Top
Breaking News
Home > राष्ट्रीय > अपने अपने राम देखना न भूलें रात आठ बजे, कुमार विश्वास ने बनाई एक नई पहचान निकला नया रूप

"अपने अपने राम" देखना न भूलें रात आठ बजे, कुमार विश्वास ने बनाई एक नई पहचान निकला नया रूप

कुमार विश्वास बोले "अपने अपने राम" देखना न भूलें रात आठ बजे

 Special Coverage News |  7 Oct 2019 6:36 AM GMT  |  दिल्ली

"अपने अपने राम" देखना न भूलें रात आठ बजे, कुमार विश्वास ने बनाई एक नई पहचान निकला नया रूप

नई दिल्ली: हिंदी के प्रो कुमार विश्वास ने आज अपने अपने राम नामक कार्यक्रम में सबका दिल जीत लिया. हालांकि इसका शेष भाग आज रात आठ बजे आज तक पर जरुर देखिये. अपने-अपने राम - The Beginning' में आज, राम कथा का प्रतीक शास्त्र, राम और राष्ट्र, साथ ही हनुमान, माँ सीता, रावण और अन्य पर संवाद, आज रात 8 बजे आज तक पर .

जिस तरह कुमार विश्वास ने सार गर्भित सार सुनाया है उसका कोई जबाब नहीं है कोई उन्हें पूज्य संत मुरारी बापू की संज्ञा दे रहा है तो कोई किसी ओर की. लेकिन इस कार्यक्रम से कुमार विश्वास सबके दिल में अपना स्थान बना गये जो कभी नहीं भूलेगा कोई.

रामकथा सुनाते हुए डॉ कुमार विश्वास बोले, राम के जीवन में कोई चमत्कार नहीं है राम ने आकाश में उंगली उठाकर कोई चक्र पैदा नहीं किया. सामान्य आदमी की तरह रोज़मर्रा की ज़िंदगी की चुनौतियों से राम जूझे हैं, रोए हैं, परेशान हुए हैं.

एक यूजर्स ने लिखा कि गांव से पिताजी का फोन आया- " कुमार विश्वास को आज तक पर देख रहा था. आज तक पर अपने अपने राम. कितनी धारा प्रवाह हिंदी बोलता है, कितनी जानकारी है उसको " ये सब उनके शब्द हैं, मेरे नहीं. मैं तो देख ही नहीं पाई, कल देखूंगी.


इस पर डॉ कुमार विश्वास ने लिखा पूज्य पिताजी को मेरा चरण स्पर्श कहिए और कहिए कि "अपने अपने राम" के किसी दो दिवसीय या तीन दिवसीय उर्जा सत्र में किसी शहर में ज़रूर आएँ ! इस संक्षिप्त इंट्रोडक्टरी सेशन का शेष भाग कल रात आठ बजे ज़रूर देखें आज तक पर.






Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it