Home > केदारनाथ मंदिर में PM मोदी ने की पूजा, कई परियोजनाओं का किया शिलान्यास

केदारनाथ मंदिर में PM मोदी ने की पूजा, कई परियोजनाओं का किया शिलान्यास

उत्तराखंड में एक कहावत है कि पहाड़ की जवानी और पहाड़ का पानी, पहाड़ों के ही काम नहीं आते. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार इस कहावत को बदलने की दिशा में काम कर रही है...

 Ekta singh |  2017-10-20 06:04:34.0  |  दिल्ली

केदारनाथ मंदिर में PM मोदी ने की पूजा, कई परियोजनाओं का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोवर्धन पूजा के अवसर पर केदारनाथ धाम पहुंचे. प्रधानमंत्री मोदी ने मंदिर में पूजा-अर्चना और रुद्राभिषेक किया. प्रधानमंत्री की केदारनाथ धाम में साल की दूसरी यात्रा है. प्रधानमंत्री ने यहाँ 5 योजनाओं का शिलान्यास किया और उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत 'जय-जय केदार' से की. उन्होंने गढ़वाली भाषा में भी भाष दिया और कहा कि मेरू सादर नमस्कार। सबहू कू आशीर्वाद। सब पर केदार बाबा का आशीर्वाद बण्यू रहे.

प्रधानमंत्री ने यहां से सभी देशवासियों को दिवाली की शुभकामनाएं दी. उन्होंने गुजरात के नव वर्ष की भी बधाई दी. मोदी इसी वर्ष मई माह में केदारनाथ पहुंचे थे.इससे पहले कपाट खुलने के बाद वह तीन मई को केदारनाथ आए थे. केदारनाथ धाम के कपाट बंद होने से पहले पीएम यहां पहुंचे हैं. बता दें कि दिवाली के बाद केदारनाथ के कपाट बंद कर दिए जाते हैं.

मोदी ने कहा कि एक समय था कि मैं यहां पर ही रहता था, शायद बाबा की इच्छा नहीं थी कि उनके चरणों में मैं जीवन व्यतीत करूं. आज एक बार फिर बाबा ने मुझे अपनी शरण में बुलाया है.

प्रधानमंत्री ने कहा की आज नई ऊर्जा लेकर वह वर्ष 2022 में देश को विकसित बनाने के लिए वह खुद को समर्पित करना चाहते हैं. प्रधानमंत्री ने बताया जब साल 2013 में आई बाढ़ और भूस्खलन ने केदारनाथ में व्यापक तबाही मचाई थी. इस आपदा में सैकड़ों लोगों की मौत हुई थी तब मई गुजरात का मुख्यमंत्री था तब मैंने यहाँ के पुनर्निर्माण का अपील लिया था तब यहाँ के मुख्यमंत्री ने हां कर दी थी. लेकिन जब यह खबर दिल्ली पहुंची तो दिल्ली में कोहराम मच गया और राज्य सरकार ने बयान दिया कि उन्हें गुजरात सरकार की मदद की जरूरत नहीं है.

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि केदारनाथ में गुणवत्ता के बुनियादी सुविधाओं का विकास किया जा रहा है, लेकिन इसमें पारंपरिक चीजों का पूरी तरह से ख्याल रखा जाएगा. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि यह पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचे .


प्रधानमंत्री ने इसके बाद पांच योजनाओं का शिलान्यास किया. इसके तहत शंकराचार्य की समाधिस्थल का शिलान्यास, मंदाकिनी नदी घाट और सुरक्षा दीवार, पैदल मार्ग चौड़ीकरण, तीर्थ पुरोहितों के आवास, संग्राहलय के निर्माण का कार्य किया जाएगा.केंद्र सरकार के द्वारा विकास परियोजनाओं के तहत केदारनाथ धाम तक आने वाली सड़कों को चौड़ा किया जाएगा.

उत्तराखंड में एक कहावत है कि पहाड़ की जवानी और पहाड़ का पानी, पहाड़ों के ही काम नहीं आते. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार इस कहावत को बदलने की दिशा में काम कर रही है.

दिवाली के बाद इस मंदिर के पट छह महीनों के लिए बंद कर दिए जाते हैं. मोदी की यात्रा के मद्देनजर इलाके को जगमगाती रोशनी और फूलों के साथ सजाया गया है. साथ ही कई और तरह की गतिविधियां भी की जा रही हैं.

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू कश्मीर में जवानों के साथ दीवाली मनाने के लिए गुरेज सेक्टर पहुंचे थे.सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत, उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू और चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधु भी प्रधानमंत्री के साथ गुरेज सेक्टर पहुंचे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की रक्षा करने वाले जवानों को मिठाई खिलाकर बधाई दी.




Tags:    
Share it
Top