Home > राष्ट्रीय > थाईलैंड दौरे पर रवाना हुए PM मोदी, आसियान-इंडिया समिट समेत 3 सम्मेलनों में लेंगे हिस्सा

थाईलैंड दौरे पर रवाना हुए PM मोदी, आसियान-इंडिया समिट समेत 3 सम्मेलनों में लेंगे हिस्सा

प्रधानमंत्री मोदी रविवार को आसियान-इंडिया समिट में शामिल होंगे

 Special Coverage News |  2 Nov 2019 5:49 AM GMT

थाईलैंड दौरे पर रवाना हुए PM मोदी, आसियान-इंडिया समिट समेत 3 सम्मेलनों में लेंगे हिस्सा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को थाईलैंड के तीन दिवसीय दौरे पर रवाना हो गए। प्रधानमंत्री थाईलैंड में आसियान-इंडिया, ईस्ट एशिया और क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) समिट में हिस्सा लेंगे। विदेश मंत्रालय ने बताया कि थाईलैंड प्रवास के पहले दिन प्रधानमंत्री वहां रह रहे भारतीय लोगों को संबोधित करेंगे। गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर सिक्का और तमिल ग्रंथ तिरुक्कुल का थाई अनुवाद जारी करेंगे। मोदी आज बैंकॉक में स्वस्दी पीएम मोदी कम्युनिटी प्रोग्राम में संबोधित करेंगे।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, रविवार को मोदी आसियान-इंडिया समिट में शामिल होंगे। आसियान समिट में आने के लिए मोदी को थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा ने न्योता दिया। गुरुवार को विदेश मंत्रालय की प्रेसवार्ता में सचिव विजय सिंह ठाकुर ने बताया था कि आसियान से संबंधित समिट हमारे डिप्लोमेटिक कैलेंडर का हिस्सा है। यह प्रधानमंत्री मोदी की सातवीं आसियान-इंडिया समिट और छठवीं ईस्ट एशिया समिट होगी।

भारत का मकसद आसियान देशों के साथ संबंध मजबूत करना

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, मोदी के इस दौरे का उद्देश्य भारत और आसियान देशों के बीच संबंधों को और मजबूती देना है। इस दौरान कई समझौते होंगे। इनमें आसियान देशों के विद्यार्थियों को भारत के आईआईटी संस्थानों में 1 हजार पीएचडी स्कॉलरशिप देने का प्रस्ताव भी है।

पिछले साल जनवरी में 10 आसियान नेताओं ने शिरकत की थी

पिछले साल जनवरी में भारत ने इंडो-आसियान समिट की 25वीं वर्षगांठ की मेजबानी की थी, जिसमें 10 आसियान नेताओं ने शिरकत की थी। इस दौरान भारत ने यह घोषणा की थी कि वह आसियान-इंडिया स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप की सतत मजबूती के लिए काम करता रहेगा।

प्रयासों के लिए 300 करोड़ रुपए का बजट रखा गया

मंत्रालय के मुताबिक- इन प्रयासों के लिए 300 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। आसियान सदस्य देशों के लिए भारत द्वारा मानव संसाधन से जुड़े प्रयासों हेतु जारी यह अब तक का सबसे बड़ा बजट है। इसकी शुरुआत इस साल सितंबर में विदेश मंत्री एस.जयशंकर और मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल की मौजूदगी में हुई थी।

प्रधानमंत्री मोदी 14वीं ईस्ट एशिया समिट में भी शामिल होंगे

प्रवास के दौरान प्रधानमंत्री मोदी 14वीं ईस्ट एशिया समिट में भी शामिल होंगे। इस मुलाकात का उद्देश्य ईस्ट एशिया कोऑपरेशन और क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान है। समिट में शामिल देश दुनिया की 54 फीसदी जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करते हैं कि जबकि जीडीपी के मामले में यह 58 प्रतिशत है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top