Home > अहंकारी मोदी सरकार कांग्रेस को मिटाने की कोशिश करती रही लेकिन कांग्रेस कभी झुकी नहीं : सोनिया गांधी

अहंकारी मोदी सरकार कांग्रेस को मिटाने की कोशिश करती रही लेकिन कांग्रेस कभी झुकी नहीं : सोनिया गांधी

सोनिया ने कहा, ना खाऊंगा ना खाने दूंगा, सबका साथ सबका विकास जैसे नारे सिर्फ ड्रामेबाजी और वोट लेकर कुर्सी हथियाने की साजिश थी।

 Arun Mishra |  2018-03-17 12:52:03.0  |  दिल्ली

अहंकारी मोदी सरकार कांग्रेस को मिटाने की कोशिश करती रही लेकिन कांग्रेस कभी झुकी नहीं : सोनिया गांधी

नई दिल्ली : कांग्रेस के 84 वें महाधिवेशन में पूर्व पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ड्रामेबाज और अहंकारी करार देते हुए एनडीए सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, ना खाऊंगा ना खाने दूंगा, सबका साथ सबका विकास जैसे नारे सिर्फ ड्रामेबाजी और वोट लेकर कुर्सी हथियाने की साजिश थी।


पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी का आड़े हाथों लेते हुए कहा, 'संविधान की उपेक्षा और उसका अनादर, विपक्ष के नेताओं को फंसाना, मीडिया को सताना, न खाऊंगा न खाने दूंगा, सबका साथ सबका विकास जैसे नारे सिर्फ ड्रामेबाजी थी ताकि वोट हथियाया जा सके।'

सोनिया ने कहा, 'कुर्सी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से झूठी नारेबाजी की, अब जनता उनको सबक सिखाएगी।' उन्होंने कहा, 'पिछले चार सालों के दौरान इस 'अहंकारी' सरकार ने कांग्रेस को खत्म करने में कोई कसर नहीं छोड़ी लेकिन 'कांग्रेस कभी नहीं झुकी और वह आगे भी कभी नहीं झुकेगी।'

मोदी सरकार की योजनाओं पर हमला बोलते हुए पूर्व पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, 'यूपीए सरकार की योजनाओं पर यह सरकार साम, दाम, दंड, भेद का इस्तेमाल कर कांग्रेस को नीचा दिखाने की कोशिश कर रही है।' महाधिवेशन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए सोनिया गांधी ने कहा, कांग्रेस एक राजनीतिक पार्टी नहीं बल्कि आंदोलन है।

उन्होंने एक बार फिर से राजनीति में आने की मजबूरी का उल्लेख करते हुए कहा कि परिस्थितियां ऐसी बनी कि मुझे इस दुनिया में आने के लिए प्रेरित होना पड़ा, जबकि मैं यहां आना नहीं चाहती थी।

सोनिया गांधी ने कहा, 'पार्टी की जीत देश की जीत होगी, कांग्रेस हमेशा से एक आंदोलन रही है, इसमें भारतीय संस्कृति की सम्पूर्ण तस्वीर दिखाई देती है। कांग्रेस एक बार फिर वो पार्टी बने जो देश का बुनियादी एजेंडा तय कर सके।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में शानदार जीत की उम्मीद जताते हुए उन्होंने कहा वहां ऐसा प्रदर्शन हो, जिससे देश को नई दिशा मिले। जो लोग देश की राजनीति से हमारा अस्तित्व मिटाना चाहते थे उन्हें अंदाजा नहीं था कि हमारी जगह लोगों के दिलों में है।

सोनिया ने कहा, '2003 में हमने समान विचार वाली पार्टियों के साथ काम करना शुरू किया जिसका हमें साल 2004 में रिजल्ट मिला। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के नेतृत्व में पांच साल की मेहनत ने हमें 2009 में भी बड़ी जीत दिलाई।'

अधिवेशन में सोनिया गांधी ने यूपीए सरकार की तारीफ करते हुए कहा, 'हमारे शासन में भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ी।' राहुल गांधी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस के पहले महाधिवेशन में सोनिया गांधी ने कहा, अब वक्त आ गया है कि कांग्रेस राहुल गांधी के नेतृत्व में मिलकर काम करे और आगे बढ़े।

Tags:    
Share it
Top