Breaking News
Home > Archived > नोट सर्जिकल का असर: ब्लैक मार्केट में डेढ़ लाख रुपये तोला सोना!

नोट सर्जिकल का असर: 'ब्लैक मार्केट' में डेढ़ लाख रुपये तोला सोना!

 Special Coverage News |  9 Nov 2016 1:18 PM GMT  |  New Delhi

नोट सर्जिकल का असर: ब्लैक मार्केट में डेढ़ लाख रुपये तोला सोना!

ब्लैक मनी के खिलाफ 'सर्जिकल स्ट्राइक' के चलते सर्राफा बाजार में सोने का दाम 30 से बढ़कर 34 हजार रुपये तोला हो गया। इसी बीच खबर चल निकली कि 'ब्लैक मार्केट' में यही सोना डेढ़ लाख रुपये तोला बिक रहा है। जूलरी व्यवसाय से जुड़े कुछ लोगों ने कहा, 500-1000 के पुराने नोट बंद होने की सूचना मिलते ही ब्लैक मनी रखने वालों में हड़कंप मचा हुआ है, वे अपने करोड़ों रुपये गोल्ड में बदलने की जुगत में लगे हैं, यही वजह है कि ब्लैक मार्केट में गोल्ड के बड़े सौदे डेढ़ लाख रुपये तोला के हिसाब से हो रहे हैं।


हालांकि बुलियन एंड जूलर्स एसोसिएशन के महासचिव योगेश सिंघल ने तार्किक ढंग से कहा कि कोई ऐसा नहीं करेगा। वह बोले 'मेरे ख्याल से ऐसा हो नहीं सकता, यह गलत सूचना है क्योंकि ब्लैक मनी वालों के पास सरकार के सामने ब्लैक मनी घोषित करने का ऑप्शन है, फिर वह क्यों 500 का नोट 100 रुपये में देंगे या क्यों इतना महंगा सोना खरीदेंगे।'


दूसरी ओर बाजार के गलियारों में ऐसी खबरें सुबह से चल रही हैं कि 500 का नोट 100 में चल रहा है, इसलिए ब्लैक मार्केट में सोने की कीमत 34 हजार रुपये तोला से डेढ़ लाख रुपये तोला पहुंच चुकी है। बुधवार दोपहर तक ब्लैक मनी से सोने की करोड़ों की डील हो चुकी है, जो अगले कुछ दिनों तक चलती रहेगी।


दूसरी तरफ जूलर्स 34 हजार रुपये तोला के हिसाब से अगले कुछ दिनों तक गोल्ड की बड़ी डील करने से इंकार कर रहे हैं। इस बारे में हमारे सहयोगी अखबार सान्ध्य टाइम्स ने कुछ सोना कारोबारियों से बात की। ज्यादातर ने कहा कि फिलहाल मार्केट में बड़ा असमंजस है। यह सच है कि कई कारोबारियों से ब्लैक मनी वालों ने किलो से ज्यादा गोल्ड खरीदने के लिए संपर्क किया है, हो सकता है कि कुछ कारोबारी 500 के नोट की 100 रुपये वैल्यू लगाकर गोल्ड बेचने की डील कर रहे हों, लेकिन साफ-सुथरा कारोबार करने वाले इस समय किसी तरह की डील में पड़ने से बचेंगे, क्योंकि फिलहाल न मार्केट के रुख का अंदाजा है, न ही सरकार के अगले कदम का।


जानकारों का कहना है कि 30 सितंबर 2016 काले धन की घोषणा का अंतिम दिन था। अघोषित आय स्कीम के तहत केन्द्र सरकार के पास लगभग 65 हजार करोड़ रुपये जमा किए गए थे। इस तारीख के बाद काला धन वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू हो चुकी है।

साभार एनबीटी

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top