Breaking News
Home > किडनी के मरीजों के लिए वरदान है एक गिलास पानी

किडनी के मरीजों के लिए वरदान है एक गिलास पानी

 alok mishra |  2016-09-20 11:56:41.0  |  New Delhi

किडनी के मरीजों के लिए वरदान है एक गिलास पानी

किडनी हमारे शरीर का एक खास अंग है जो शरीर से हानिकारक टॉक्सिन्स को यूरीन के ज़रिए बाहर निकालता है, लेकिन मॉडर्न लाइफ स्टाइल की चकाचौंध में हम अपने इस सबसे अहम अंग का ख्याल ही नहीं रखते हैं.

किड़नी की बीमारी को साइलेंट किलर कहा जाता है, क्योंकि इस बीमारी का पता शुरूआती दौर में लगाना काफी मुश्किल होता है. इसलिए हमे हमेशा इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि हमारी किडनी पर हमारी जीवनशैली का कोई दुष्प्रभाव ना पड़े.

क्या आप जानते हैं कि एक ग्लास पानी किडनी के मरीजों के लिए वरदान साबित हो सकता है, क्योंकि ऑर्गन फेल होने का सबसे बड़ा कारण पानी की कमी से शरीर में होनेवाले डिहाइड्रेशन को माना जाता है.

आइए हम आपको बताते हैं कि किस तरह से एक ग्लास पानी किडनी के मरीज़ों को जीवनदान देने की क्षमता रखता है.

पानी की कमी से होनेवाले दुष्प्रभाव

पानी की कमी की वजह बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है जिससे ऑर्गन फेल होने का खतरा होता है. एक सर्वे के मुताबिक ऑर्गन फेल होने की वजह से हर महीने करीब 1 हज़ार मरीजों की मौत हो जाती है.

किडनी हमारे शरीर से हानिकारक टॉक्सिन्स को यूरीन के ज़रिए बाहर निकालता है, लेकिन शरीर में पानी की कमी हो जाने की वजह से किडनी पर दबाव बढ़ता है, जिससे टॉक्सिन्स बाहर निकालने की क्षमता प्रभावित होती है.

नेशनल हेल्थ सिक्योरिटी (NHS) के आंकड़ों पर गौर करें तो करीब 13 हज़ार मरीज किडनी फेल हो जाने की वजह से अस्पतालों में दम तोड़ देते हैं और इसके लिए पानी की कमी को सबसे बड़ा कारण माना जाता है.

पानी की कमी से कई मरीजों की किडनी के भीतर घाव हो जाता है तो कई मरीजों के सामने किडनी ट्रांसप्लांट कराने तक की नौबत आ जाती है.

उम्रदराज़ लोगों, दिल के मरीजों और डायबिटीज के मरीज़ों को किडनी की बीमारी होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है.

एक ग्लास पानी दे जीवनदान

पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से शरीर में पानी का संतुलन बना रहता है. जिसकी मदद से किडनी शरीर में मौजूद हानिकारक टॉक्सिन्स को आसानी से बाहर निकाल सकता है.

दिनभर में कम से कम 8 से 10 ग्लास पानी ज़रूर पीना चाहिए, इससे बॉडी डिहाइड्रेट नहीं होती है.

भरपूर मात्रा में पानी पीने से शरीर की पाचन क्रिया भी ठीक रहती है और इससे शरीर का तापमान भी सही रहता है.

पानी पीने के अलावा अपने शरीर को निरोगी रखने के लिए आप फलों के जूस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

घर पर फलों का रस निकालकर पीने से ज्यादा फायदा होता है, लेकिन बाज़ार में मिलनेवाले सॉफ्ट ड्रिंक्स किडनी की सेहत के लिए घातक साबित हो सकते हैं.

कहते हैं ना कि ईलाज से कही ज्यादा बेहतर है आपकी सतर्कता, इसलिए अपनी किडनी को सेहतमंद बनाए रखने के लिए शरीर में कभी भी पानी की कमी न होने दें, क्योंकि एक ग्लास पानी दे सकता है किडनी मरीजों को जीवनदान.

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top