Home > ये खबर जरूर पढ़ें: दिल के मरीजों को मिली सबसे बड़ी राहत, नहीं लूट पाएंगे अस्पताल वाले

ये खबर जरूर पढ़ें: दिल के मरीजों को मिली सबसे बड़ी राहत, नहीं लूट पाएंगे अस्पताल वाले

ये खबर जरूर पढ़ें:  दिल के मरीजों को मिली सबसे बड़ी राहत, नहीं लूट पाएंगे अस्पताल वाले

नई दिल्ली: केंद्र के मोदी सरकार ने दिल के मरीजों को सबसे बड़ी राहत देदी. जिस हार्ट एंजियोप्लास्टी करने पर स्टंट की कीमत लाखों में वसूल कर दवा कंपनी मुनाफा खोरी का खेल खेल रही थी. अब खेल ख़त्म कर दिया. जबकि आम जनता के लिए यह राहत भरा कदम है.


केंद्र सरकार ने मुनाफाखोरी पर अमादा अस्पतालों और दवा कंपनियों पर नकेल कसते हुए एंजियोप्लास्टी के दौरान लगाए जाने वाले स्टेंट की कीमत तय कर दी है.राष्ट्रीय दवा मूल्य प्राधिकरण ने अपने आदेश में कहा है कि कोई भी अस्पताल या दवा कंपनी विदेश से मंगाए जाने वाले स्टेंट के लिए 30 हजार रूपए से ज्यादा की रकम नहीं वसूलेंगे.देसी मेटल स्टेंट की कीमत अधिकतम 7500 रूपए रखी गई है. अभी इम्पोर्टेड स्टेंट के लिए मरीजों से 1.5 से 3 लाख रूपए लिए जाते हैं और देसी स्टेंट के लिए 80 हजार रूपए तक की कीमत लगाई जाती है.


दूसरी ओर अगर स्टेंट की लागत देखें तो इम्पोर्टेड स्टेंट 10 हजार रूपए का और देसी पांच हजार रूपए का होता है. इसका मतलब है अभी मरीजों को स्टेंट की लागत से सैंकड़ों गुणा ज्यादा पैसा देना पड़ता है.पिछले साल दिल्ली हाई कोर्ट ने स्टेंट के लिए मनमाना पैसा वसूलने पर आपत्ति जताई थी. इसके बाद केंद्र सरकार ने इसे जरूरी दवाओं की राष्ट्रीय सूची में शामिल कर लिया था.दूसरी ओर अस्पताल और दवा कंपनियां स्टेंट को दवा मूल्य नियंत्रण सूची में रखने का विरोध कर रही थी.लेकिन जांच में पाया गया कि कुछ अस्पताल स्टेंट को अपनी कमाई के अहम स्रोतों में शामिल करते हैं.इस लिहाज से सरकार के फैसले से दिल के मरीजों को बड़ी राहत मिली है. इसके बाद अब जनता स्टंट के नाम लुटी नहीं जायेगी.

Tags:    
Share it
Top