Home > मुलायम मेरे धर्म पिता तो डिंपल मेरी भाभी, डिंपल भाभी क्या दोगी दुष्ट गायत्री प्रजापति को सजा बताओ - उमा भारती

मुलायम मेरे धर्म पिता तो डिंपल मेरी भाभी, डिंपल भाभी क्या दोगी दुष्ट गायत्री प्रजापति को सजा बताओ - उमा भारती

 शिव कुमार मिश्र |  2017-02-20 03:40:32.0  |  सुल्तानपुर

मुलायम मेरे धर्म पिता तो डिंपल मेरी भाभी, डिंपल भाभी क्या दोगी दुष्ट गायत्री प्रजापति को सजा बताओ - उमा भारती

सुल्तानपुर: इसौली विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी ओमप्रकाश पाण्डेय 'बजरंगी' के समर्थन में केंद्रीय मंत्री साध्वी उमा भारती ने इसौली के सुरेश नगर में पहुँच कर जनसभा को संबोधित करते हुए सपा-कांग्रेस को निशाने पर रखा। उमा भारती ने स्पष्ट शब्दों में कहा राहुल और अखिलेश से ज्यादा अच्छे नेता तो भाजपा कार्यकर्ता में हैं। जहा पर हज़ारों की संख्या में लोग रहे एकत्रित उमा भारती के सम्बोधन को सुनने के लिए।


सुरेश नगर में लोगों को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि राहुल और अखिलेश सोचते है उत्तर प्रदेश में हम ही है और कोई नही,जबकि भाजपा के कार्यकर्ता उनसे अच्छे नेता हैं। अखिलेश को घमण्ड हो गया है कि यूपी हमारी है, लेकिन अबकी बार लहर बीजेपी की है अगर बीजेपी की सरकार आएगी तो भष्ट्राचार बिलकुल ख़त्म हो जाएगा। उमा भारती ने कहा कि नोटबंदी पर विरोधी दलों के नेताओं जनता और बीजेपी को बहुत कोसा है,लेकिन अगर मेरे प्रधानमंत्री को अगर कोई विपक्ष वाला गलत बोलेगा तो मैं बर्नदाशात नही करूँगी।


केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमाभारती ने मंत्री गायत्री प्रजापति मामले पर कहा कि अब आ गई बिल्कुल परीक्षा की घडी, मैं मीडिया बंधुओ से कहूँगी कि मेरा सन्देश मेरी बहु तक पहुंचा दीजिये मेरे छोटे भाई की पत्नी है मैं मुलायम सिंह को अपना पिता माना है मेरी लड़ाई हुई है ध्रुवीकारण हुआ है जबरजस्त,लेकिन लड़ाई के बाद मर्यादा नहीं नाघी है इसलिए मैं डिम्पल से कहूँगी कि तुम्हारी परीक्षा की घडी है मुझे देखना है कि गायत्री प्रजापति के बारे में तुम क्या फैसला करवाती हो.........डिम्पल को अपनी परीक्षा पास करनी है। वही एक प्रश्न करके डिम्पल से कि गायत्री के खिलाफ क्या होना चाहिए डिम्पल बताएं।


वही उमा ने यह भी कहा कि जो ढाई साल में हुआ है वह 70 सालो में नहीं हुआ था यह लोग कह रहे है या तो ये लोग आँखों पर पट्टी बांधे हुए है या तो फिर बच्चो को बरगला रहे है। उत्तर प्रदेश अपराध और भ्रस्टाचार का गढ़ बना हुआ है। जिसका जवाब इन दोनों को देना नहीं है। इसलिए ये लोग ऐसा कह रहे है लेकिन हाँ हमलोगों ने ऐसा विकास तो नहीं किया कि 15 करोड़ की सड़क 30 करोड़ की दिखा दी है। वही उमा ने 80 करोड़ के कपडे मामले पर उमा ने कहा कि वो तो 8 सौ करोड़ का भी पहन सकते है क्या तकलीफ है जो हमलोग उनको भेंट करते है प्रधानमंत्री स्वयं कपडे थोड़ी खरीदते है बहुत से लोग है जो स्वयं उनसे स्नेह करने वाले लोग भेंट करते है सारे कार्यकर्ता उन्हें घर का मानत्ते है जब शादी विवाह होता है तो उनके लिए भी एक सेट बनवाते है।

रिपोर्ट ब्रजेश वर्मा


Tags:    
Share it
Top