Home > रूस में पीएम मोदी ने ट्रम्प को दिया करारा जवाब, जानिए- भाषण की मुख्य बातें

रूस में पीएम मोदी ने ट्रम्प को दिया करारा जवाब, जानिए- भाषण की मुख्य बातें

PM Narendra Modi at SPIEF: ‘Opportunities in every sector, sky is the limit in India’

 Arun Mishra |  2017-06-02 13:15:33.0  |  New Delhi

रूस में पीएम मोदी ने ट्रम्प को दिया करारा जवाब, जानिए- भाषण की मुख्य बातेंPhoto : @MEAIndia

सेंट पीटर्सबर्ग : सेंट पीटर्सबर्ग इकनॉमिक फोरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पैरिस अग्रीमेंट तोड़ने के बाद भारत और चीन की आलोचना करने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जवाब दिया है। मोदी ने कहा, 'भारत की सांस्कृतिक विरासत रही है। 5 हजार साल पुराने शास्त्र हमारे यहां मौजूद हैं, जिन्हें वेद के नाम से जाना जाता है। इनमें से एक वेद अथर्ववेद पूरी तरह नेचर को समर्पित है। हम उन आदर्शों को लेकर चल रहे हैं। हम यह मानकर चलते हैं कि प्रकृति का शोषण क्राइम है। यह हमारे चिंतन का हिस्सा है। हम नेचर के शोषण को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए हम अपने मैन्युफैक्टरिंक सेक्टर में जिरो डिफेक्ट, जीरो इफेक्ट पर चलता हैं।'

जानिए- भाषण की मुख्य बातें -

- राष्ट्रपति पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों देशों के साझा कार्यक्रम को संबोधित किया जहां पीएम ने भारत में निवेश के लिए रूस के निवेशकों को आमंत्रण दिया। दुनिया की अर्थव्यवस्था में भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है। आज भारत का जीडीपी वार्षिक दृष्टि से 7 प्रतिशत है। पूरे विश्व का ध्यान एशिया की तरफ है स्वाभाविक तौर पर भारत इसके केंद्र में है।

- हम अपने रिश्ते की 70 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं, भारत और रूस के संबंध चारों तरफ तेज गति से बढ़ रहे हैं। विश्व में देशों के बीच संबंध नई बात नहीं है लेकिन बहुत कम ऐसे देश होते हैं जहां संबंधों का आधार एक दूसरे पर विश्वास होता है। उपयोगिता से ज्यादा अर्थपूर्ण संबंध होते है।

- पिछले कई सालों में इन विविधताओँ वाले देश में कई कानून को खत्म किया गया है। एक महीने में जीएसटी लागू हो जाएगा जिससे पूरे देश में एक ही टैक्स होगा। विदेशी निवेशकों को भी इससे फायदा मिलेगा।

- आने वाला युग तकनीक का है जिसके लिए हम डिजिटल इंडिया कैंपेन लेकर चल रहे हैं। विकास की यात्रा में इस बात पर हम ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जिससे भारत के आम लोगों को इसका फायदा मिले।

- हिन्दुस्तान का गरीब व्यक्ति भी अर्थव्यवस्था की मूल धारा में हो इसलिए प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत उन्हें तकनीक और बैंक से जोड़ा गया है। लोगों के जीवन में बदलाव लाने के लिए जैम योजना यानि की जनधन, आधार, एमएम से जोड़ रहे हैं।

- केंद्र में हमारी सरकार बनने के बाद 1100 दिनों के शासन में 1200 से ज्यादा कानूनों को खत्म किया गया है। विश्व के किसी भी देश को अगर भारत में अपना किस्मत आजमाना है तो भारत में इज ऑफ डूइंगि बिजनेस को टार्गेट बनाकर सात हजार नए बदलाव किए गए हैं।

- इन दिनों जितनी भी क्रेडिट रेंटिंग एजेंसी है चाहे वर्ल्ड बैंक हो या आईएमएफ सबने कहा है कि भारत तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है। आने वाले दिनों में भारत विश्व अर्थव्यवस्था का नेतृत्व करेगा।

- हम आने वाले दिनों में न्यू इंडिया का सपना लेकर चल रहे हैं। जिस देश की संख्या 125 करोड़ है वो दुनिया की नजर में एक मार्केट हैं। इस देश की आबादी में 80 करोड़ लोग नौजवान हैं।

- दुनिया के कई देशों ने मार्श पर जाने के लिए कई प्रयोग किए। हिन्दुस्तान एक मात्र ऐसा देश है जो पहली बार में सफल हुआ। हॉलीवुड का जितना फिल्म बनाने का खर्च होता है उससे भी कम बजट में हमने मार्श पर पहुंचने में सफलता पाई है।

- मैं ऐसी पीढ़ी तैयार करना चाहता हूं जो जॉब क्रिएटर हों। मैं विश्व के स्किल्ड डवलेपमेंट में काम करने वाले एजेंसी का 80 करोड़ युवाओं वाला देश में स्वागत करता हूं। भारत के युवा विश्व को बहुत कुछ दे सकते हैं।

- भारत विकास की यात्रा में तीन प्रमुख पहलुओं पर ध्यान दे रहा है। 50 से ज्यादा शहर में मेट्रों की आवश्यकता है। वेस्ट मैनजमेंट की 500 शहरों को आवश्यकता है। दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क हमारा है। रोज ढाई करोड़ लोगो हमारे यहां रेल में सफर करते हैं जितनी दूसरे देशों की जनसंख्या है।इसलिए यहां निवेश की अपार संभावनाएं हैं।

Tags:    
Share it
Top