Home > सउदी के शाह ने नवाज़ शरीफ से पूछा, 'आप हमारे साथ हैं या कतर के साथ'

सउदी के शाह ने नवाज़ शरीफ से पूछा, 'आप हमारे साथ हैं या कतर के साथ'

पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ एक मुलाकात में सउदी अरब के शाह सलमान ने उनसे सवाल पूछा,

 Arun Mishra |  2017-06-14 14:12:45.0  |  New Delhi

सउदी के शाह ने नवाज़ शरीफ से पूछा, आप हमारे साथ हैं या कतर के साथ

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ एक मुलाकात में सउदी अरब के शाह सलमान ने उनसे सवाल पूछा, आप हमारे साथ हैं या कतर के साथ शरीफ कतर संकट का कूटनीतिक समाधान तलाशने के लिए खाड़ी देश गए थे।

एक्सप्रेस ट्ब्यिून ने राजनयिक सूत्रों के हवाले से कहा कि सउदी अरब के शाह ने सोमवार को जेददा में शरीफ से मुलाकात के दौरान उनसे कहा कि वे कतर पर अपना रख स्पष्ट करें। अखबार में कहा गया है, जब रियाद ने इस्लामाबाद से पूछा कि आप हमारे साथ हैं या कतर के तो इस पर पाकिस्तान ने सउदी अरब को जवाब दिया कि पश्चिम एशिया में बढ़ते राजनयिक संकट के बीच वह किसी एक का पक्ष नहीं लेगा।

कतर के साथ सउदी तथा अन्य खाड़ी देशों के राजनयिक संपर्क खत्म कर लेने के बाद से पाकिस्तान बड़े एहतियात के साथ कदम उठा रहा है। इन देशों का आरोप है कि तेल सम्पन्न कतर आतंकी समूहों को समर्थन देता है। हालांकि अखबार की खबर के मुताबिक सउदी अरब चाहता है कि पाकिस्तान उसका साथ दे। जेददा में शाही भवन में शरीफ और सउदी शाह के बीच हुई बातचीत की जानकारी रखने वाले एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से अखबार ने कहा कि पाकिस्तान मुस्लिम जगत में मतभेद उत्पन्न करने वाली किसी भी टना में किसी एक का पक्ष नहीं लेगा।

इसमें कहा गया फिर भी सउदी अरब को शांत करने के लिए पाकिस्तान कतर पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर हालात को शांत करने की पेशकश करता है। इसके लिए प्रधानमंत्री कुवैत, कतर और तुर्की जाएंगे। इस दौरे पर शरीफ के साथ सैन्य प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी थे। खाड़ी जगत में बन रहे हालात पर चर्चा के लिए वे सोमवार को जेददा पहुंचे थे।

एक आधिकारिक वक्तव्य के मुताबिक जेददा में शरीफ ने शाह सलमान से मुलाकात की और सभी मुस्लिमों के हित के लिए खाड़ी में जारी गतिरोध के जल्द समाधान की मांग की। सउदी प्रेस एजेंसी ने बताया कि शाह सलमान और शरीफ ने दिवपक्षीय संबंधों के अलावा वर्तमान में क्षेत्र में बने हालात पर भी चर्चा की। सलमान ने शरीफ से कहा कि कट्टरपंथ तथा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई सभी मुस्लिमों के हित में है।

Tags:    
Share it
Top