Home > हिटलर के घर को लेकर चल रहा कानूनी विवाद खत्म, कब्जे में लेगी सरकार

हिटलर के घर को लेकर चल रहा कानूनी विवाद खत्म, कब्जे में लेगी सरकार

 Special Coverage News |  2016-12-16 07:15:34.0  |  Austrian

हिटलर के घर को लेकर चल रहा कानूनी विवाद खत्म, कब्जे में लेगी सरकार

वियना: ऑस्ट्रियाई स्थित नाजी तानाशाह एडोल्फ हिटलर के घर को लेकर चला आ रहा लंबा कानूनी विवाद अब खत्म होता दिख रहा है। अब सरकार हिटलर के घर को कब्जे में लेने जा रही है। इसके लिए संसद के निचले सदन नेशनल काउंसिल में बुधवार को एक विधेयक पेश किया गया। यहां के सांसदों ने इस घर को जब्त किए जाने की मंजूरी दे दी है।

मालूम हो कि 20 अप्रैल 1889 को इसी घर में हिटलर का जन्म हुआ था। सरकार ने यह कदम घर को तीर्थस्थल बनने से रोकने के लिए उठाया है। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इस घर के साथ क्या किया जाएगा। ऑस्ट्रियन सरकार लंबे समय से इस घर के मालिक के साथ कानूनी लड़ाई लड़ रही थी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, देश की गठबंधन सरकार की दोनों पार्टियों के अलावा ग्रीन्स और एनईओएस जैसे विपक्षी दलों के प्रतिनिधियों ने भी विधेयक का समर्थन किया है। इस विधेयक को गृहमंत्री वोल्फगैंग सोबोत्का ने पेश किया।

इस घर का मालिक पोमर परिवार है। उन्होंने साल 1972 से ही सरकार को यह घर किराये पर दिया हुआ था। अब इस घर के बदले उन्हें सरकार की ओर से मुआवजा दिया जाएगा। मुआवजे की रकम क्या होगी, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। इस घर के भविष्य को लेकर सरकार ने क्या फैसला किया है, इसकी तस्वीर फिलहाल साफ नहीं हो सकी है। गृहमंत्री अब ऊपरी सदन के गवर्नर और ब्रूनो शहर के मेयर से घर के भविष्य के बारे में चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि वह इमारत की बाहरी बनावट में बदलाव करने को लेकर आर्किटेक्ट कंपनियों से बात भी कर चुके हैं।

वहीं कई लोगों का कहना है कि इस इमारत को शरणार्थी केंद्र बना देना चाहिए। वहीं कई लोगों का मानना है कि यह इमारत नाजी शासन से ऑस्ट्रिया की मुक्ति के प्रतीक के तौर पर एक संग्रहालय में तब्दील कर देना चाहिए।

Tags:    
Share it
Top