Home > ब्रिटेन चुनाव: 450 सीटों के परिणाम घोषित, कंजर्वेटिव पार्टी को 191, लेबर पार्टी 205 सीटों मिली

ब्रिटेन चुनाव: 450 सीटों के परिणाम घोषित, कंजर्वेटिव पार्टी को 191, लेबर पार्टी 205 सीटों मिली

britain election result 2017

 शिव कुमार मिश्र |  2017-06-09 03:18:30.0  |  दिल्ली

ब्रिटेन चुनाव: 450 सीटों के परिणाम घोषित, कंजर्वेटिव पार्टी को 191, लेबर पार्टी 205 सीटों मिली

ब्रिटेन की मौजूदा प्रधानमंत्री थेरेसा मे और विपक्षी नेता जेर्मी कोर्बिन में से किसी एक के हाथ में देश की कमान सौंपने का फैसला करने के लिए ब्रिटेन में गुरुवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हुआ।

650 सीटों के लिए हुए मतदान के बाद जारी मतगणना में 450 सीटों के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। मे की कंजर्वेटिव पार्टी को 191 और लेबर पार्टी को 205 सीटों पर जीत मिली है।
मतदान ब्रिटेन के समयानुसार रात 10 बजे और भारतीय समयानुसार देर रात दो बजकर 30 मिनट पर समाप्त हुआ। इसके बाद वोटों की गिनती शुरू की गई। मतदान के तुरंत बाद सामने आए एक्जिट पोल से संकेत मिले हैं कि ब्रिटेन में कोई भी पार्टी बहुमत हासिल नहीं कर पाएगी। एक्जिट पोल में अनुमान लगाया गया है कि कंजर्वेटिव 314 सीटों और लेबर 266 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है।

रायटर के मुताबिक, प्रधानमंत्री मे बहुमत से दूर रह सकती हैं। एक्जिट पोल के अनुसार मे की कंजर्वेटिव पार्टी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर सकती है, लेकिन उसे स्पष्ट बहुमत मिलने की संभावना नहीं है। संसद त्रिशंकु हो सकती है।

एक्जिट पोल के अनुसार प्रधानमंत्री, मे की पार्टी ब्रिटेन की 650 सदस्यीय संसद में 314 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है। इस स्थिति में पार्टी को बहुमत के लिए 17 सीटों की कमी होगी।
गौरतलब है कि स्पष्ट बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को 326 सीटों की जरूरत है। लेबर पार्टी को 266 सीटें मिल सकती हैं और इस स्थिति में वह वर्ष 2015 के चुनाव के मुकाबले 34 सीटों की बढ़त की स्थिति में नजर आ रही है।

हाल ही में आतंकवादी हमलों का शिकार हुए ब्रिटेन में चार करोड़ से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। ब्रिटेन की राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक पुलिस के मुख्यालय के प्रवक्ता ने कहा कि स्थानीय पुलिस बल मतदान केंद्रों के आसपास की सुरक्षा की लगातार समीक्षा करते रहे। हाल ही में हुए दो आतंकी हमलों के बाद चुनाव के दौरान मतदान केंद्रों के आसपास बड़ी संख्या में पुलिसबल देखा गया। चुनाव पूर्व सर्वे ब्रिटिश प्रधानमंत्री को उनके मौजूदा पद पर बनाए रखने के पक्ष में दिखाई दिया था।

गौरतलब है कि मे ने 52 दिन पहले मध्यावधि चुनावों का आह्वान किया था। 60 साल की मे ने निर्धारित समय से तीन साल पहले ही चुनावों की घोषणा कर दी थी। उन्होंने 28 सदस्यों वाले यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के निकलने से जुड़ी पेचीदा बातचीत से पहले ही इन चुनावों को संपन्न करवा लिया है।

तीन साल में ब्रिटेन के इस चौथे बड़े चुनाव में 4.6 करोड़ मतदाता थे। इनमें से 15 लाख मतदाता भारतीय मूल के थे। इससे पहले वर्ष 2014 में स्कॉटलैंड की स्वतंत्रता के लिए जनमत संग्रह हुआ था।

Tags:    
Share it
Top