Home > यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को दी 'आर्थिक प्रतिबंध' लगाने की चेतावनी

यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को दी 'आर्थिक प्रतिबंध' लगाने की चेतावनी

 Special Coverage News |  2016-09-24 05:15:15.0  |  जिनेवा

यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को दी आर्थिक प्रतिबंध लगाने की चेतावनी

जिनेवा: पाकिस्तान के अत्याचारों के खिलाफ बलूचिस्तान के लोगों के साथ एकजुटता दिखाते हुए यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को प्रतिबंध की चेतावनी दी है। कहा है कि अगर पाकिस्तान बलूचिस्तान में मानवाधिकारों का उल्लंघन नहीं रोक पाया तो यूरोपीय यूनियन उस पर आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंध लगा सकता है।

यूरोपीय संसद के वाइस प्रेजिडेंट रिसजार्ड जारनेकी ने कहा मानवाधिकारों पर चर्चा के दौरान मैंने यूरोपीय यूनियन को बताया कि अगर हमारे सहयोगी देश मानवाधिकारों की कद्र नहीं करते हैं तो ऐसे में हमें प्रतिक्रिया स्वरूप आर्थिक प्रतिबंध के बारे में सोचना पड़ेगा। पाकिस्तान के अत्याचारों के खिलाफ एक शांतिपूर्ण प्रदर्शन में शामिल हुए जारनेकी ने जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि यह वक्त बोलने का नहीं, कुछ करने का है।

उन्होंने पाकिस्तान पर दोहरा रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ पाकिस्तान दुनिया को अपना साफ सुथरा चेहरा दिखाता है और दूसरी तरफ मानवाधिकारों के उल्लंघन में शामिल होता है। उन्होंने कहा, पाकिस्तान के दो चेहरे हैं। एक चेहरा हमें दिखाने के लिए और दूसरा क्रूर चेहरा बलूचिस्तान के लिए।

यूरोपीय यूनियन के सभी 28 सदस्य देशों को बलूचिस्तान के लोगों के प्रति पाकिस्तान की क्रूर नीति के खिलाफ बोलना चाहिए। उन्होंने माना कि पाकिस्तान के साथ समस्या यह है कि वहां की सरकार सेना के नियंत्रण में रहती है। बलूचिस्तान के लोगों को हमारी एकजुटता महसूस होनी चाहिए।

Tags:    
Share it
Top