Home > इजरायल दौरे पर पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय को दिए ये अहम 'तोहफे'

इजरायल दौरे पर पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय को दिए ये अहम 'तोहफे'

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी तीन दिवसीय इजरायल यात्रा के दूसरे दिन यहां मौजूद भारतवासियों को संबोधित किया..

 Special Coverage News |  2017-07-06 02:50:11.0  |  New Delhi

इजरायल दौरे पर पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय को दिए ये अहम तोहफेPhoto : Twitter/MEAIndia

तेल अवीव : पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी तीन दिवसीय इजरायल यात्रा के दूसरे दिन यहां मौजूद भारतवासियों को संबोधित किया। तेल अवीव के कन्वेंशन सेंटर में हुए इवेंट में पीएम मोदी को सुनने के लिए हजारों की संख्या में भारतीय मूल के लोग मौजूद थे। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू भी शामिल हुए। पीएम ने अपने संबोधन में 3 घोषणाएं भी कीं।

पीएम मोदी ने कहा कि तेल अवीव से दिल्ली-मुंबई के लिए फ्लाइट सर्विस शुरू की जाएगी। पीएम ने कहा कि इजरायल में अनिवार्य मिलिटरी सर्विस कर चुके भारतीय मूल के लोगों को ओवरसीज सिटिजनशिप ऑफ इंडिया (OCI) कार्ड जारी किया जाएगा। इसके अलावा पीएम ने इजरायल में इंडियन कल्चरल सेंटर खोलने की भी घोषणा की।
प्रधानमंत्री मोदी ने यहां भी अपने संबोधन की शुरुआत पहले हिब्रू में की। पीएम ने कहा कि 70 सालों में पहली बार किसी भारतीय पीएम का यहां आना अपने आप में एक खुशी का अवसर है, और कुछ सवालिया निशान भी हैं।
पीएम ने कहा, 'बहुत दिनों बाद जब आप किसी से मिलते हैं तो कहते हैं कि कैसे हो?' पीएम ने कहा कि मैं अपनी बात की शुरुआत इसी स्वीकारोक्ति से करना चाहता हूं कि वाकई बहुत साल बाद मिले, 10-20-50 नहीं 70 साल बीत गए। भारत की स्वतंत्रता के 70 साल बाद भारत का कोई पीएम आज इजरायल की धरती पर आपका आशीर्वाद ले रहा है।
पीएम मोदी ने एक बार फिर इजरायल के पीएम नेतन्याहू की तारीफ करते हुए कहा, 'इजरायल आने के बाद उन्होंने जिस तरह मेरा साथ दिया, सम्मान दिया वह भारत के सवा सौ करोड़ लोगों का सम्मान है।'
मोदी ने कहा कि 'हम दोनों में एक विशेष समानता है कि दोनों ही स्वतंत्रता के बाद पैदा हुए हैं। नेतन्याहू स्वतंत्र इजरायल में जन्मे और मैं स्वतंत्र भारत में जन्मा हूं।'
पीएम ने कहा कि 'नेतन्याहू का भारतीय भोजनों के प्रति प्यार अद्भुत है। उन्होंने कहा कि वह इसे सदैव याद रखूंगा। मोदी ने कहा कि भारत और इजरायल सैकड़ों सालों से गहराई से जुड़े हुए हैं। उन्होंने 13वीं सदी के एक सूफी संत बाबा फरीद का जिक्र करते हुए बताया कि उन्होंने येरुशलम की एक गुफा में साधना की थी। आज भी वह गुफा भारत और इजरायल के रिश्ते के 800 सालों का एक प्रतीक है।'
मोदी ने कहा, 'भारत इजरायल का संबंध परंपराओं, साझी संस्कृति और मित्रता का है। उन्होंने कहा कि हमारे त्योहारों में भी खूब समानता है। भारत में दिवाली मनाते हैं तो यहां हनुका मनाया जाता है।' मोदी ने एक बार फिर इजरायल में भारतीय सैनिकों की शहादत को याद किया। पीएम बोले, 'इजरायल की वीर भूमि कई वीर सपूतों के बलिदान से सिंचित हुई है। मोदी ने कहा कि यहां कार्यक्रम में मौजूद कई ऐसे परिवार होंगे जिनके पास बलिदान की गाथाएं होंगी। मैं इस बलिदान को प्रणाम करता हूं।'
मोदी ने कहा कि किसी भी देश में नागरिकों की संख्या या आकार बहुत मायने नहीं रखता, नागरिकों का भाव मायने रखता है। इजरायल ने इसे साबित करके दिखाया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने नेतन्याहू के साथ देर रात ढाई बजे तक बात की। निकलते समय नेतन्याहू ने एक तस्वीर भेंट की। इसमें प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान येरुशलम को आजादी दिलवाते भारतीय सैनिक थे।
पीएम ने कहा कि यहूदी समुदाय के लोग भारत में काफी कम संख्या में रहे हैं, लेकिन जिस क्षेत्र में रहे हैं अपनी उपस्थिति गौरवपूर्ण तरीके से दर्ज कराई है। पीएम ने अपने संबोधन में जनरल जैकब का भी जिक्र किया जिन्होंने 1971 के युद्ध में पाकिस्तानी सैनिकों को सरेंडर कराने में अहम भूमिका निभाई थी। पीएम ने बताया कि ऑल इंडिया रेडियो की सिग्नेचर ट्यून एक यहूदी ने बनाई थी। पीएम ने कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि इजरायल में मराठी भाषा की पत्रिका माई बोली का लगातार प्रकाशन किया जाता है। कोच्चि से आए हुए यहूदी यहां ओणम भी मनाते हैं।
पीएम ने इजरायल में भारतीय समुदाय के कार्यों का जिक्र किया। पीएम ने कहा कि इजरायल ने बीते दशकों में लगभग हर क्षेत्र में इनवेन्शन से दुनिया को चमका दिया है। सोलर एनर्जी हो, कृषि हो, सुरक्षा का क्षेत्र हो, अनेक क्षेत्रों में नए-नए इनवेन्शन से इजरायल ने दुनिया के कई देशों को पीछे छोड़ दिया है। पीएम ने कहा कि यही वजह है कि अबतक 12 इजरायलियों को अलग-अलग क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार मिल चुके हैं।
पीएम ने कहा कि मेरी सरकार का मंत्र है रिफॉर्म, परफॉर्म, ट्रांसफॉर्म। उन्होंने अपने संबोधन में जीएसटी का भी जिक्र किया। पीएम बोले की भारत में जीएसटी लागू हो गया है और मैं जीएसटी को गुड ऐंड सिंपल टैक्स कहता हूं। पीएम ने कहा कि स्पेक्ट्रम और कोयले की खदानों की नीलामी में पारदर्शिता को अपनाया इससे देश को काफी धन आया। पीएम ने कहा कि हमने 3 साल के भीतर रक्षा क्षेत्र में रिफॉर्म किया और कई जगह 100 प्रतिशत एफडीआई का प्रावधान किया।
पीएम ने कहा कि 2022 में हिंदुस्तान की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। हमें 2022 तक हिंदुस्तान को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। उन्होंने कहा, 'हमने फैसला किया है कि 2022 तक हिंदुस्तान के हर परिवार के पास अपना घर हो, बिजली हो, पानी हो।' पीएम ने इजरायल में भारतीय मूल के लोगों के सामने अपनी सरकार द्वारा किए गए कार्यों का लेखा-जोखा रखा। पीएम ने स्किल डिवेलपमेंट के प्रयासों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि आज का भारत जवान है, इसलिए इसके सपने भी जवान होने चाहिए। पीएम ने कहा कि भारत में इन्वेशन के लिए तमाम प्रयास हो रहे हैं।
पीएम के संबोधन से पहले नेतन्याहू ने कार्यक्रम की शुरुआत की। उन्होंने एक बार फिर भारत-इजरायल की दोस्ती का जिक्र किया। इजरायल के पीएम ने भारतीय मूल के लोगों की तारीफ करते हुए कहा कि हम आपसे प्यार करते हैं। नेतन्याहू ने कहा कि वह चाहते हैं कि भारतीय छात्र और अधिक संख्या में इजरायल आएं। उन्होंने कहा कि इजरायल में छात्र जो भी सीखेंगे वह भविष्य में भारत के काम आने वाला है।

Tags:    
Share it
Top