Breaking News
Home > देश के 44वें चीफ जस्टिस के रूप में जगदीश सिंह खेहर ने ली शपथ

देश के 44वें चीफ जस्टिस के रूप में जगदीश सिंह खेहर ने ली शपथ

 Arun Mishra |  2017-01-04 03:49:56.0  |  नई दिल्ली

देश के 44वें चीफ जस्टिस के रूप में जगदीश सिंह खेहर ने ली शपथ

नई दिल्ली : राष्ट्रपति भवन में बुधवार को जस्टिस जेएस खेहर ने सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने शपथ दिलाई। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे। वह देश के 44 वें मुख्य न्यायाधीश होंगे। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टीएस ठाकुर मंगलवार को रिटायर हो गए। खेहर पहले सिख मुख्य न्यायाधीश होंगे।

पंजाब में 28 अगस्त 1952 में जन्में जस्टिस जगदीश सिंह खेहर (64) का कार्यकाल काफी कम होगा, वह लगभग आठ माह के कार्यकाल के बाद 27 अगस्त 2017 को सेवानिवृत्त हो जाएंगे।

वह नवंबर 2009 में नैनीताल हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने, उसके बाद उन्हें कर्नाटक हाईकोर्ट को मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। 13 सितंबर 2011 को वह सुप्रीम कोर्ट में जज के रूप में प्रोन्नत हुए।

गवर्नमेंट कॉलेज चंडीगढ़ से 1974 में स्नातक किया। 1977 में पंजाब विवि चंडीगढ से लॉ की डिग्री हासिल की। 1979 में एलएलएम में गोल्ड मेडल हासिल किया। 1979 में ही पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ में प्रैक्टिस शुरू की। 1992 में पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में एडिशनल एडवोकेट जनरल बने। 17 नवंबर 2009 को नैनीताल हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त हुए और 29 नवंबर को मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ ली। आठ अगस्त 2010 को उन्हें कर्नाटक हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया। जस्टिस खेहर ने उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के बीच कर्मचारियों के आवंटन से संबंधित मामले में ऐतिहासिक फैसला दिया। जिसमें कहा गया था कि एक बार आवंटन के बाद पारस्परिक आवंटन नहीं हो सकता। राज्य लोक सेवा आयोग में उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड भेजी गई तीन महिला कार्मिकों को वापस उत्तर प्रदेश भेजने की कार्रवाई को निरस्त करने का फैसला भी महत्वपूर्ण था।


Tags:    

नवीनतम

Share it
Top