Home > Archived > 500 और 1000 रुपये के नोट बंद होने से आम लोगों को होंगे ये फायदे

500 और 1000 रुपये के नोट बंद होने से आम लोगों को होंगे ये फायदे

 Special Coverage News |  8 Nov 2016 6:45 PM GMT  |  New Delhi

500 और 1000 रुपये के नोट बंद होने से आम लोगों को होंगे ये फायदे

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 500 और 1000 रुपये के मौजूदा नोटों को बंद करने के ऐलान के बाद आर्थिक विशेषज्ञ इस फैसले की समीक्षा करने में जुटे हैं। देश की अर्थव्यवस्था के लिए यह फैसला जरूरी था। यह वित्तीय और आर्थिक अखंडता बनाए रखने में सहायक होगा। जानकारों का मानना है कि इस फैसले से मध्यम वर्ग, गरीब और नौकरी पेशा लोगों को फायदा होगा। इसके चलते रीयल एस्टेट में कीमतें कम होंगी और उच्च शिक्षा
भी आम लोगों के दायरे में होगी। यही नहीं भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में भी इसे अहम माना जा रहा है।

देश में बढ़ते जाली नोटों के इस्तेमाल के चलते यह फैसला लिया गया है। अकसर हम देखते है, करोड़ों रुपयों के नोटों को लोगों के घरों से बरामद किए जाने की खबरें सुनते हैं। इस फैसले से एक तरफ सरकार के रेवेन्यू में इजाफा होगा। वहीं, ब्लैक मनी को वाइट इकॉनमी के दायरे में लाने में भी मदद मिलेगी। इस फैसले से उच्च शिक्षा के मामले में भी समानता की स्थिति
आ सकेगी क्योंकि अवैध कैश लेनदेन संभव नहीं होगा। यही नहीं इससे महंगाई पर भी लगाम लग सकेगी।

फिलहाल भ्रष्टाचार में लिप्त लोग अपनी अघोषित आय को रीयल एस्टेट सेक्टर में निवेश करके खुद को साफ-सुथरा साबित करने की कोशिश करते हैं। इस फैसले से ऐसे लोग नकद भुगतान नहीं कर सकेंगे। ऐसे में प्रॉपर्टी की कीमतें कम होंगी और गरीबों के लिए मकान का सपना आसान हो सकेगा।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। साथ ही लोगों से अपील की, वे सुझाए गए कदमों का पालन करें, परेशान न हों।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top