Breaking News
Home > kk वेणुगोपाल बने नए अटार्नी जनरल, लेंगे मुकुल रोहतगी की जगह, जानिए उनके वारे में

kk वेणुगोपाल बने नए अटार्नी जनरल, लेंगे मुकुल रोहतगी की जगह, जानिए उनके वारे में

वरिष्ठ वकील k.k वेणुगोपाल को केन्द्र सरकार ने नए अटार्नी जनरल के पद पर नियुक्त किया है।

 Special Coverage News |  2017-07-01 05:51:21.0  |  नई दिल्ली

kk वेणुगोपाल बने नए अटार्नी जनरल, लेंगे मुकुल रोहतगी की जगह, जानिए उनके वारे में

नई दिल्ली: वरिष्ठ वकील k.k वेणुगोपाल को केन्द्र सरकार ने नए अटार्नी जनरल के पद पर नियुक्त किया है। गौरतलब है कि तत्कालीन अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी का कार्यकाल समाप्त होने के बाद वेणुगोपाल को नया अटार्नी जनरल नियुक्त किया गया है। PM नरेन्द्र मोदी की अमेरिका, नीदरलैंड और पुर्तगाल यात्रा से पहले ही 86 वर्षीय वकील वेणुगोपाल के नाम पर चर्चा हो गयी थी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनकी नियुक्ति को मंजूरी दे दी है।

बता दें कि संविधान विशेषज्ञ केके वेणुगोपाल भारत के 15वें अटॉर्नी जनरल होंगे। पद्म विभूषण और पद्म भूषण से सम्मानित वेणुगोपाल मोरारजी देसाई सरकार के दौरान अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल रहे हैं। उन्होंने कई सरकारों को मदद की और वरिष्ठ अधिवक्ता के तौर पर उनका प्रतिनिधित्व किया।
वेणुगोपाल हाल ही में वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य की ओर से भी इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में पेश हुए थे। मामले में कोर्ट ने आरोपियों पर आपराधिक साजिश के आरोप बहाल कर ट्रायल को 2 साल में पूरा करने का आदेश दिया है। वेणुगोपाल कई सरकारों का भी कोर्ट में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। 2G स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले में वह CBI और प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ओर से सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे।

वेणुगोपाल का जन्म 1931 में केरल में हुआ था। कर्नाटक के मेंगलोर पले बढ़े। उन्होंने बेलगाम के राजा लखामगौडा लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई की। उनके पिता एमके नाम्बियार भी वकील थे। वेणुगोपाल के दो बेटे और एक बेटी हैं। 86 साल के वेणुगोपाल ने 1954 में मैसूर हाईकोर्ट के बार में रजिस्ट्रेशन कराया था। बाद में मद्रास हाईकोर्ट में अपने पिता एमके नाम्बियार के अंडर में प्रेक्टिस शुरू की। 1960 में सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू की।

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top