Home > फटाफट पढ़ें राज्यसभा में PM मोदी के भाषण की बड़ी बातें!

फटाफट पढ़ें राज्यसभा में PM मोदी के भाषण की बड़ी बातें!

 Special Coverage News |  2017-02-08 14:01:19.0  |  New Delhi

फटाफट पढ़ें राज्यसभा में PM मोदी के भाषण की बड़ी बातें!

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर बोल रहे है। प्रधानमंत्री नोटबंदी से लेकर सरकार की कई योजनाओं पर अपनी बात रखी। इस दौरान उन्होंने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा डॉ. मनमोहन जी का करीब 30-35 साल से भारत के आर्थिक निर्णयों के साथ सीधा संबंध रहा है। हर बड़े फैसले मनमोहन सिंह के सहमति से हुए। लेकिन इतने घोटाले होने के बावजूद मनमोहन सिंह पर एक भी दाग नहीं लगे। बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना केवल डॉ. साहब (मनमोहन सिंह) ही जानते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के दौरान विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के दौरान ही मनमोहन सिंह सहित कांग्रेस सांसदों ने वॉकआउट किया। विपक्ष ने प्रधानमंत्री पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अपमान का आरोप लगाया।

इसी बीच बीजेपी की तरफ से केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए हिटलर और मुर्सलोनी जैसे शब्द भी प्रयोग किए गए। कांग्रेस सांसदों ने वॉकआउट के बाद पीएम मोदी ने भाषण फिर शुरू किया। पीएम मोदी ने कहा कभी भी हार स्वीकार न करना ये कब तक चलेगा। हम लोकतंत्र का आदर करने वाले लोग हैं। राज्यसभा में पीएम मोदी ने कहा शहर तुम्हारा, कातिल तुम, शाहिद तुम, हाकिम तुम लेकिन मुझे यकीन है मेरा ही कसूर निकलेगा।

नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा नोटबंदी लागू करना दुनिया का बड़ा फैसला है। दुश्मन देश में तो जाली नोट का कारोबार करने वाले को आत्महत्या करनी पड़ी। दुनिया में कहीं इतना बड़ा और व्यापक निर्णय नहीं हुआ इसलिए दुनिया के अर्थशास्त्रियों के पास भी कोई मापदंड नहीं है। जब इतनी ज्यादा करंसी बैंकों के पास आई तो कर्ज देने की ताकत बढ़ी और ब्याज दर कम हुई। पहली बार ऐसा हुआ कि जनता का मिजाज एक तरफ और नेताओं का मिजाज एक तरफ।

पीएम मोदी ने कहा भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ लड़ाई राजनीतिक लड़ाई नहीं है। गरीब का हित छीन लिया जाता है और मध्यम वर्ग का शोषण होता है। हम कबतक इन समस्याओं को लेकर गुजारा करेंगे। श्रीमती इंद्रा जी के समय में कमिटी ने नोटबंदी के बारे में बताया था। वांचू कमिटी ने जब नोटबंदी के लिए रिपोर्ट दी थी तब इतनी समस्याएं नहीं थीं।

Tags:    
Share it
Top