Home > राष्ट्रपति चुनाव: नामांकन के बाद बोले रामनाथ कोविंद, जबसे राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं

राष्ट्रपति चुनाव: नामांकन के बाद बोले रामनाथ कोविंद, जबसे राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं

रामनाथ कोविंद ने कहा जबसे मैं राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं है। मेरा मानना है कि राष्ट्रपति को दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए।

 Kamlesh Kapar |  2017-06-23 07:47:37.0  |  नई दिल्ली

राष्ट्रपति चुनाव: नामांकन के बाद बोले रामनाथ कोविंद, जबसे राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव के लिए NDA के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने नामांकन भर दिया है। इस दौरान उनके साथ PM मोदी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे। वही एनडीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी साथ थे।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन भरने के बाद रामनाथ कोविंद ने कहा कि हमारे देश का संविधान सर्वोपरि है। मुझे समर्थन देने वाले सभी दलों का धन्यवाद। बता दे कि रामनाथ कोविंद का राष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा है। उन्होंने कहा जबसे मैं राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं है। मेरा मानना है कि राष्ट्रपति को दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए। देश की सीमा की सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है।

NDA के साथ-साथ जेडीयू, टीआरएस, बीजेडी जैसे दलों ने उन्हें समर्थन का ऐलान किया है। ऐसे में रामनाथ कोविंद को 61 फीसदी से भी ज्यादा वोट मिलने की उम्मीद है, क्योंकि अकेले एनडीए का वोट प्रतिशत ही 48.6 फीसदी है। नामांकन के मौके पर समर्थन देने वाले तमिलनाडु के सीएम पलनीसामी, तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव, आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू और ओडिशा के मंत्री सूर्य नारायण पात्रो भी मौजूद थे।

उधर, राष्ट्रपति चुनाव के लिए बीजेपी के दलित कार्ड के जवाब में कांग्रेस ने भी दलित कार्ड खेला है। एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के मुक़ाबले विपक्ष ने पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को मैदान में उतारा है। गुरुवार को कांग्रेस की अगुवाई में 17 विपक्षी की दलों की बैठक में आम सहमति से मीरा कुमार के नाम पर मुहर लग गई। मीरा कुमार की उम्मीदवारी के बाद अब जेडीयू पर निगाहें टिकी हैं कि क्या बिहारी अस्मिता का ख्याल कर नीतीश पाला तो नहीं बदलेंगे, हालांकि जेडीयू की ओर से साफ संकेत है कि वो रामनाथ कोविंद को ही समर्थन देगी।

Tags:    
Share it
Top