Top
Breaking News
Home > Archived > मोदी की नोटबंदी से पिछली सरकार का पर्दाफास: इतना बड़ा घपला किया सोच नही नही सकते?

मोदी की नोटबंदी से पिछली सरकार का पर्दाफास: इतना बड़ा घपला किया सोच नही नही सकते?

 Special Coverage News |  9 Dec 2016 9:29 AM GMT  |  New Delhi

मोदी की नोटबंदी से पिछली सरकार का पर्दाफास: इतना बड़ा घपला किया सोच नही नही सकते?

अनिल गुप्ता

बात कोई तेरह चौदह साल पुरानी है सेंधवा नाके (मध्य-प्रदेश महाराष्ट्र का नाका) पर हाई फाई चेकिंग के दौरान एक बहुत ही ज्यादा ओवरलोड ट्रक पकड़ा गया। ट्रांसपोर्ट कम्पनी का दुर्भाग्य/संजोग देखिये उसी कम्पनी का एक ट्रक दोसा राजस्थान के निकट एक बेहद रसूखदार की कार के साथ एक्सीडेंट का शिकार हो गया था समाचार-पत्रों में घायलों के, ट्रक और कार के बड़े बड़े फोटो छपे थे।


इधर जब सेंधवा नाके पर ओवरलोड ट्रक के कागजात आदि चेक किये जा रहे थे उसी समय क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (RTO) कडकडाती ठण्ड में धूप खाते हुए समाचार-पत्र पढ़ रहे थे। अचानक उन्हें कुछ अजीब सा लगा क्योंकि दौसा राजस्थान में जिस ट्रक का एक्सीडेंट हुआ था वो नंबर उन्होंने अभी अभी यहाँ सेंधवा नाके पर पकड़ा है। उन्होंने ट्रक के कागज़ात दुबारा मंगवाए नंबर बिलकुल वही था समाचार-पत्र में एक्सीडेंट वाले ट्रक के समान।


अधिकारी के कान खड़े हो गए उन्होंने दौसा दुर्घटना स्थल के पुलिस अधिकारी से संपर्क किया और सारे कागज़ कॉपी करके तुरंत मेल करने को कहा! अधिकारी महोदय उस समय हैरान रह गए जब दोनों ट्रकों की एक एक जानकारी 'एज इट इज' समान निकली उन्हें माजरा समझते देर ना लगी, उन्होंने ट्रक को जब्त किया और ट्रांसपोर्टर को बिना सूचना दिए ट्रांसपोर्ट के मुख्यालय शायद इंदौर या ग्वालियर पहुँच गए।ट्रांसपोर्टर को तलब किया गया जो काफी मोटी खाल वाला बन्दा था भारतीय भ्रष्टाचारी अर्थ-व्यवस्था के तालाब में अठखेलियाँ करता मगरमच्छ! रिश्वत पर चलती व्यवस्था का पुराना खिलंदड़! उसने मामला बेलेंस करने के लिए राजनैतिक रसूख से लेकर अपने सारे पत्ते फेंके लेकिन RTO साहब किसी और मिट्टी के बने थे शहर के पूरे मीडिया को सूचना दी हुई थी बात नहीं बनी और कोर्ट से आग्रह करके ट्रांसपोर्टर साहब रिमांड पर ले लिए गए।


जो सच सामने आया बहुत ही हैरतअंगेज था। एक एक रजिस्ट्रेशन पर चार ट्रक चल रहे थे यानी पांच रजिस्ट्रेशन पर बीस ट्रक अब इस बात के अन्दर ज्यादा नहीं जाउंगा आप खुद सोचिये यातायात कर/व परमिट से लेकर इसके अन्य कितने लाभ उन्होंने पंद्रह बीस साल में उठाये होंगे.अब आते हैं भारतीय अर्थव्यवस्था में जारी की हुई 1000 और 500 के नोटों के मूल्य पर यह कुल इकोनोमी में साढ़े चौदह लाख करोड़ है जिसमे से आज तक करीब बारह लाख करोड़ जमा हो जायेंगे।


आगे पढ़ें इसका

आगे पढ़े

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it