Home > Archived > निजी अस्पतालों में पुराने नोट स्वीकार्य करने की छूट होनी चाहिए- रामगोपाल यादव

निजी अस्पतालों में पुराने नोट स्वीकार्य करने की छूट होनी चाहिए- रामगोपाल यादव

 Special Coverage News |  16 Nov 2016 8:56 AM GMT  |  New Delhi

निजी अस्पतालों में पुराने नोट स्वीकार्य करने की छूट होनी चाहिए- रामगोपाल यादव

नई दिल्ली: लंच के बाद राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हो गयी है। राज्यसभा में सांसद रामगोपाल यादव बोल रहे हैं। उन्होंने कहा गरीब हो या पैसे वाला बेटी के शादी के समय उसके मन में होता है कि धूमधाम से उसकी शादी करें। लेकिन अब लोगों के पास दो ही विकल्प हैं, या तो शादी टालें या फिर तोड़ें। उन्होंने कहा किसानों को लूटा जा रहा है। उन्हें धान पर प्रति क्विंटल 500 रुपये का नुकसान हो रहा है। सीएम अखिलेश ने पीएम को चिट्ठी लिख सुझाव दिया था कि
ग्रामीण इलाकों में मोबाइल बैंक
की व्यवस्था होनी चाहिए। निजी अस्पतालों में पुराने नोट स्वीकार्य करने की छूट होनी चाहिए।

उन्होंने कहा सरकार के इस कदम से देश की जनता को बहुत व्यवहारिक दिक्कतों से गुजरना पड़ रहा है। नोटबंदी के बाद से गांव के लोग टूथपेस्ट आदि दैनिक सामान नहीं खरीद पा रहे हैं। नोटबंदी से दो चार महीने बाद बाबा रामदेव के टूथपेस्ट आदि की बिक्री भी बंद हो जाएगी। उन्होंने कहा सरकार काला धन लेना नहीं चाहती इसीलिए 200 फीसदी जुर्माना और 30 फीसदी टैक्स का नियम बनाया है।

बता दें लंच से पहले राज्यसभा में सांसद रामगोपाल यादव ने नोटबंदी की तुलना आपातकाल से की, उन्होंने कहा, 'ऐसा तो इमर्जेंसी के दौरान भी नहीं हुआ, आम आदमी भिखारी बन गया है।'

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top