Top
Home > Archived > भाईयो अब तो जनता ने जबाब भी दिया: अब तो सदन चलने दो, जनता स्वीकार कर चुकी, आप भी मानो!

भाईयो अब तो जनता ने जबाब भी दिया: अब तो सदन चलने दो, जनता स्वीकार कर चुकी, आप भी मानो!

 Special Coverage News |  29 Nov 2016 7:45 AM GMT  |  New Delhi

भाईयो अब तो जनता ने जबाब भी दिया: अब तो सदन चलने दो, जनता स्वीकार कर चुकी, आप भी मानो!

नई दिल्ली: बीते 8 नवम्बर से नोट बंदी पर पूरे देश में मचे हो हल्ला पर अब देश की जनता का मूड पता लगने लगा है, बीते दिनों महाराष्ट्र और गुजरात निकाय चुनाव या लोकसभा, विधानसभा के उप चुनाव हो जनता ने नोट बंदी पर अपनी मोहर लगा दी है. इस मोहर बंदी पर जनता चाहती है कि सभी नेता भी सहमती दें और सदन चलने दें और देश के विकास से सम्बन्धित प्रस्ताव पारित कर इस देश की जनता का भला करने का काम करें.


आपको बता दें कि जिस तरह से विपक्ष ने जोर शोर से भारत बंद कला मुद्दा उठाया, फिर धीरे धीरे सभी दलों ने दूरियां बनाई, उससे साफ़ जाहिर होने लगा कि जनता नहीं चाहती है आप नोट बंदी का विरोध करो. जनता नोट बंदी पर आ रही दिक्कतें भी झेल रही है. तो फिर इन नेताओं को कौन सी परेशानी हो रही है. आप भी मानो सदन चलने दो देश के विकास की बात होने दो. धरना और प्रदर्शन से देश का हित मत करो. अगर आप को यही लग रहा है. कि वास्तविक में मोदी ने गलत किया है तो जनता का साथ अति आवश्यक है.


निकाय चुनाव में जनता अपना मन साफ़ बता रही है. कि हम नोट बंदी के साथ खड़े है. साथ ही जनता इसकी सही व्यवस्था से नाराज जरुर है,सबसे ज्यादा इस व्यवस्था की नाराजगी महिलाओं में है और मझले व्यापरियों में है जिनके व्यापर पर भारी असर पड़ा है.

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it