Home > कुछ चुनिन्दा लोग के कारण क्षेत्र की जनता के साथ विश्वासघात नहीं कर सकता - डॉ महेश शर्मा

कुछ चुनिन्दा लोग के कारण क्षेत्र की जनता के साथ विश्वासघात नहीं कर सकता - डॉ महेश शर्मा

 Special Coverage News |  2016-07-25 10:14:26.0  |  नॉएडा

कुछ चुनिन्दा लोग के कारण क्षेत्र की जनता के साथ विश्वासघात नहीं कर सकता - डॉ महेश शर्मा

नॉएडा के सांसद एवं केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने अपने विरोधियों को मुंह तोड़ जबाब देते हुए कहा कि जनता की सेवा के भाव को लेकर में जनता के काम को हर पल तैयार रहता हूँ .

इस बारे में डॉ शर्मा ने जनता को एक पत्र लिखकर अपनी अपील जनता तक पहुंचाई.


विगत लोकसभा चुनाव में गौतमबुद्धनगर की माननीय जनता ने मुझे लगभग 3 लाख मतों के भारी अन्तर से विजयी बना कर अपना सांसद चुना, निःसंदेह इस क्षेत्र के हर वर्ग हर जाति का अषीर्वाद मुझे प्राप्त हुआ।

साथियों चिकित्सा क्षेत्र के माध्यम से भी विगत 33 वर्षो से मुझे समाज के हर वर्ग हर जाति की सेवा करने का जो सौभाग्य मिला उसी माध्यम से मैं आप सभी से जुड़ता चला गया ।

इसी दौरान जब मुझे राजनीति के मंच के माध्यम से आप सभी की सेवा करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ तो कुछ चुनिन्दा लोग भी अपने निहित स्वार्थो के लिये मुझसे जुड़ गये, जिनकी अनैतिक अपेक्षायें मेरे द्वारा पूर्णतयाः नकार दी गई। इन्ही लोगों ने मेरे प्यार एवं विष्वास को भुला अपनी ओछी मानसिकता का परिचय देते हुये पोस्टर, बैनर एवं सोषल मीडिया के माध्यम से दुषःप्रचार का अभियान चला रखा है एवं राजनीतिक विरोधियों की प्रेरणा से मेरी बेदाग छवि को गलत तरीकों के माध्यम से खराब कर अपने मनसूबों को पूरा करना चाहते हैं, जो रिकार्डिंग आवाज चला कर किसी विषेष जाति वर्ग को भ्रमित किया जा रहा है व पूर्णतयाः निराधार है । मेरा इतिहास है इस क्षेत्र के नागरिकों से मैं अपनी सेवा भावना के माध्यम से जुड़ा हुआ हूँ। चाहे वह किसी भी वर्ग के हो या किसी भी जाति के हों एवं सभी क्षेत्रवासियों के लिये मेरी उपलब्धता हर वक्त बनी रहती है ।

मेरा विष्वास है कि इस क्षेत्र के प्रबुद्ध जनता जो मुझे विगत 33 वर्षो से जानती है और समझती है मेरे प्रति फैलाये जा रहे इस दुषःप्रचार के बहकावे में नही आयेगी, क्योकि ना मेरे ये संस्कार है ना मेरा चरित्र और ना ही मेरे पेषे का स्वभाव। फिर भी मेरी सभी क्षेत्रवासियों से अपील है कि यदि उन्हे मेरे किसी व्यवहार अथवा शब्दों से किसी भी प्रकार की आपत्ति है या ठेस पहूंची है तो मैं उनकी षिकायतों को दूर करने के लिये हर वक्त व्यक्तिगत रूप से उपलब्ध हूँ और उनसे क्षमा याचना करने में कोई गुरेज नही है, क्योकि किसी को ठेस पहुंचाना मेरी भावना ही नहीं है।
मेरा भविष्य का राजनीतिक, सामाजिक, व्यवसायिक जीवन मरण इसी क्षेत्र व आप सब के बीच में रहेगा । मैं किसी जाति या धर्म के प्रति वैमनष्य की कल्पना भी नहीं कर सकता । मुझे विष्वास है कि गौतमबुद्धनगर क्षेत्र की जनता इन मौका परस्त लोगों को कामयाब नहीं होने देगी।
मैं देष की संसद में गौतमबुद्धनगर की सम्पूर्ण 35 लाख जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करता हूँ और मैं उस शपथ के प्रति प्रतिबद्ध हूँ जो मैने संसद में ली थी कि मैं इस क्षेत्र के सभी क्षेत्रवासियों चाहे वह किसी भी दल अथवा किसी भी जाति के हो, के प्रति बिना किसी भेदभाव के कार्य करता रहूंगा । मेरे इस क्षेत्र के प्रत्येक नागरिक का मान सम्मान मेरा मान सम्मान है।


Tags:    
Share it
Top