Home > संघी गणवेशधारी जब 'पथ संचलन'के लिए सडकों पर उतरते है तो चारों तरफ आतंक का वातावरण व्याप्त होता है-

संघी गणवेशधारी जब 'पथ संचलन'के लिए सडकों पर उतरते है तो चारों तरफ आतंक का वातावरण व्याप्त होता है-

 Special Coverage News |  2016-07-13 01:37:06.0  |  लखनऊ

संघी गणवेशधारी जब पथ संचलनके लिए सडकों पर उतरते है तो चारों तरफ आतंक का वातावरण व्याप्त होता है-

समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि लोकतंत्र में विपक्ष की भी महत्वपूर्ण भूमिका मानी जाती है। उत्तर प्रदेश में किन्तु विपक्ष की भूमिका नकारात्मक बन गई है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी सरकार ने विकास के जो प्रशंसनीय कार्य किये, उनकी सराहना दूसरे प्रदेशों में हो रही है। लेकिन प्रदेश के विपक्षी दलों को वह फूटी आंखो नही सुहाते है।
अभी वृक्षारोपण का वृहत कार्यक्रम कल ही संपन्न हुआ जिसमें 12 घंटे से कम समय में ही 5 करोड़ वृक्ष लगाने का ऐतिहासिक रिकार्ड बना। आने वाली पीढ़ी के लिए पर्यावरण संतुलन और प्रदूषण मुक्त वातावरण की दृष्टि से किये गये ऐतिहासिक कदम की विपक्ष द्वारा सराहना न किया जाना दर्शाता है कि उन्हें लोकतंत्र की स्वस्थ पंरपराओं को निभाना भी नही आता है।
उत्तर प्रदेश में भाजपा और आरएसएस सामाजिक सद्भाव को बिगाड़ने की साजिशों में समाजवादी सरकार बनने के दिन से ही लगे हैं। राजनीति के आगे इन्हें भला बुरा कुछ भी नही सूझ रहा है। आरएसएस की प्रदेश में गतिविधियाँ इधर ज्यादा ही बढ़ गई है। संघ का शिविर जनता के लिए चिंता का विषय है। संघ की परिधि में धर्मनिरपेक्षता के लिए कोई स्थान नही है, उनके झण्डे तले तो सिर्फ सांप्रदायिकता, अराजकता और नफरत ही पनप सकती है।
यह सभी जानते है कि संघ कभी भी नही चाहता है कि लोग अमन चैन के साथ रह सके। समाज में सद्भाव कायम रहने का संघ दुश्मन है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को विकास से भी दुश्मनी है क्योंकि तब उसकी ओछी मानसिकता को पनपने में दिक्कत होती है। संघ सामाजिक ताना-बाना को तोड़ने वाला संगठन है जिसकी नींव फासिस्ट विचारधारा पर पड़ी है। इस संगठन की अब तक की भूमिका विध्वसंात्मक रही है।
उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चुनावी घोषणापत्र के सभी वादे पूरे कर दिये है जबकि भाजपा की केन्द्र सरकार दो वर्श बीतने के बाद एक भी वादा पूरा करने में सफल नही हो सकी है। केवल जुमलेबाजी से जनता को गुमराह करने की भाजपाई नीति और अफवाहें फैलाने वाले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की चालों से जनता अब सतर्क हो चली है।
संघ की कवायदों में गणवेशधारी जब 'पथ संचलन' के लिए सार्वजनिक तौर पर सड़कों पर उतरते है तो चारों तरफ आतंक का वातावरण व्याप्त होता है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि संघ की शाखाओं का उद्देश्य क्या है ? प्रदेश की षांति व्यवस्था भंग करने की किसी भी कोशिश को सख्ती से निबटा जाएगा। यहाँ समाजवादी सरकार अखिलेश यादव के नेतृत्व में धर्म निरपेक्ष सरकार है और प्रदेश में कानून का राज कायम रहेगा।

Tags:    
Share it
Top