Home > JNU में आइसा-एसएफआई के जीत पर कन्हैया का तंज- 'जेएनयू को बंद कर.. लो, ABVP तो बंद हो गया'

JNU में आइसा-एसएफआई के जीत पर कन्हैया का तंज- 'जेएनयू को बंद कर.. लो, ABVP तो बंद हो गया'

 Special Coverage News |  2016-09-11 05:36:05.0  |  नई दिल्ली

JNU में आइसा-एसएफआई के जीत पर कन्हैया का तंज- जेएनयू को बंद कर.. लो, ABVP तो बंद हो गया

नई दिल्ली: जेएनयू छात्र संघ के चुनाव में लेफ्ट गठबंधन ने चारों सीटों पर कब्जा कर लिया है। वाम फ्रंट ने सेंट्रल पैनल के चारों पदों को जीतकर जेएनयू को पूरी तरह से लाल रंग में रंग दिया है। लेफ्ट गठबंधन के उम्मीदवार मोहित कुमार पांडेय ने अध्यक्ष पद पर जीत दर्ज की। अमल पीपी ने वाइस प्रेसिडेंट, तबरेज हसन ने जॉइंट सेक्रेटरी और सतरूपा चक्रवर्ती ने जनरल सेक्रेटरी पद पर जीत हासिल की है। काउंसलर के 31 सीटों में से भी लेफ्ट गठबंधन ने 30 जीत लिया। जबकि एबीवीपी को सिर्फ एक सीट मिली।

पहली बार भाकपा माले की छात्र शाखा आइसा ने माकपा की एसएफआई के साथ गठबंधन किया है। आइसा के विजय कुमार ने बताया कि यह जेएनयू की जीत है और उन ताकत की हार भी जिन्‍होंने करीब एक साल से इस विश्‍वविद्यालय को बंद कराने के लिए क्‍या-क्‍या नहीं किया। शुक्रवार को हुए चुनाव में 60 प्रतिशत विद्यार्थियों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। पिछले साल के मुकाबले मतदान का प्रतिशत 6.70 फीसदी अधिक रहा है। सभी मतदान केंद्रों पर कुल मिलाकर 5,181 मत पड़े।

कन्हैया ने मोहित को बधाई दी और ट्वीट किया, देश जानना चाहता है। जेएनयूएसयू चुनावों में एबीवीपी का क्या हुआ। जेएनयू को बंद करो एबीवीपी को बंद करो बन गया है।

Tags:    
Share it
Top