Home > भगवंत मान वीडियोग्राफी मामला: जांच कर रहे पैनल की अवधि फिर बढ़ाई गई

भगवंत मान वीडियोग्राफी मामला: जांच कर रहे पैनल की अवधि फिर बढ़ाई गई

 Special Coverage News |  2016-08-19 10:04:29.0  |  New Delhi

भगवंत मान वीडियोग्राफी मामला: जांच कर रहे पैनल की अवधि फिर बढ़ाई गई

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान द्वारा संसद भवन की वीडियोग्राफी किए जाने के मुद्दे की जांच कर रहे लोकसभा पैनल की अवधि नवंबर के अंत तक के लिए बढ़ा दी गई है। जांच कर रहे पैनल के अध्यक्ष किरीट सोमैया ने शुक्रवार को कहा, अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भगवंत मान के आचरण संबंधी जांच के लिए गठित समिति की अवधि शीत सत्र के पहले सप्ताह के अंत तक के लिए बढ़ा दी है। इस माह की शुरूआत में इस पैनल को दो सप्ताह का विस्तार दिया गया था और इसे कल अपनी रिपोर्ट देनी थी।

आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान वीडियो बनाते हुए जिस गेट से होकर हाई सिक्योरिटी जोन में दाखिल हुए थे, पैनल ने उस गेट पर तैनात सिक्योरिटी पर्सनल्स की पिछले हफ्ते बुलाकर बात सुनी थी। इन सिक्योरिटी पर्सनल्स को बुलाने के पीछे का मकसद यह पता लगाना था कि सिक्योरिटी सिस्टम में कहीं किसी किस्म की खामी तो नहीं थी और जिस दिन आप सांसद परिसर में घुसे थे, उस दिन असल में हुआ क्या था?

किरीट सोमैया ने पहले कहा था कि कमेटी अपनी रिपोर्ट दो हिस्सों में दायर करेगी। एक रिपोर्ट संसद की सिक्योरिटी का खुलासा करने में भगवंत मान की भूमिका के बारे में होगी और दूसरी रिपोर्ट करेक्टिव मेजर्स बताने वाली होगी।

बता दें नौ मेंबर्स वाली इस कमेटी का गठन उस घटना की जांच के लिए किया गया था, जिसे कई लोगों ने संसद भवन परिसर की सुरक्षा का गंभीर उल्लंघन करार दिया था। कई सांसदों ने संसद भवन परिसर की वीडियोग्राफी करने और इसकी सेंसटीव फुटेज को सोशल मीडिया पर डालने को लेकर भगवंत मान के अनुचित कंडक्ट पर सवाल उठाए थे।

मामले की गंभीरता को देखते हुए लोकसभा स्पीकर ने संगरूर से आप के सांसद भगवंत मान से कहा था कि जब तक इस मामले में फैसला नहीं आ जाता, तब तक वह सदन की बैठकों में हिस्सा न लें। इस घटना के बाद भी मान लगातार यह कहते रहे हैं कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और उनका इरादा लोगों को संसदीय प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी देना था।

Tags:    
Share it
Top