Home > Archived > भीड़ ने ट्रेन और स्टेशन को बनाया निशाना, स्टेशन मास्टर ने बचाई भागकर जान

भीड़ ने ट्रेन और स्टेशन को बनाया निशाना, स्टेशन मास्टर ने बचाई भागकर जान

 शिव कुमार मिश्र |  7 Nov 2016 6:38 AM GMT  |  समस्तीपुर

भीड़ ने ट्रेन और स्टेशन को बनाया निशाना, स्टेशन मास्टर ने बचाई भागकर जान

समस्तीपुर

बिहार के समस्तीपुर में सोमवार को हुए रेल हादसे में छह लोगों की मौत हो गई. हादसा रेल मंडल के रामभद्रपुर रेलवे स्टेशन के गुमटी संख्या 8 सी के पास हुआ जहां 12562 स्वतंत्रता सेनानी ट्रेन की चपेट में एक दर्जन लोग आ गए और जिसमें तीन लोंगों की कटकर मौत हो गई.

हादसे में तीन अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गये. जिनकी अस्पताल में मौत हो गई. मंडल रेल कमांडेंट अजय कुमार ने बताया कि रामभद्रपुर स्टेशन के आउटर सिग्नल के पास एक तालाब है जिसमें हर साल की तरह इस बार भी छठ पर्व मनाया जा रहा था.छठव्रतियों के काफी सारे परिजन घाट के किनारे रेलवे ट्रैक पर ही खड़े थे. उसी समय दिल्ली से तेज रफ्तार से वापस दरभंगा लौट रही ट्रेन की चपेट में कई लोग आ गए. इसमें एक बच्ची, एक युवक समेत एक व्यक्ति की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी. जबकि तीन की मौत अस्पताल में हो गई. उन्होंने बताया कि इस घटना मे रबीना कुमारी (12 वर्ष), सत्यम कुमार (16वर्ष) और महेन्द्र राय (50 वर्ष) की कटकर मृत्यु हो गई जबकि रामचन्द्र राय और समशेर नदाफ गंभीर रूप से घायल हो गए.


परिजनों और स्थानीय लोगो ने बताया कि बिना हॉर्न दिए तेज रफ्तार से ट्रेन गुजर गई और हादसे में कई लोग अकाल मौत के शिकार हो गए. घटना के बाद गुस्साए लोगों ने रामभद्रपुर स्टेशन और स्टेशन पर खड़ी समस्तीपुर-जयनगर डीएमयू ट्रेन में काफी तोड़फोड़ कर दी. लोगों ने स्टेशन मास्टर की बाइक में आग भी लगा दी.सभी रेलकर्मी किसी तरह से स्टेशन छोड़कर भाग खड़े हुए और अपनी जान बचायी. घटना के बाद से समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर सभी ट्रेनों का परिचालन बंद है. लोगों ने तीनों शवों को रेलवे ट्रैक पर ही रखकर यातायात को ठप्प कर रखा है और घटनास्थल पर रेलवे के डीआरएम को बुलाने, सभी को उचित मुआवजा देने, आश्रितों को नौकरी देने और दोषी रेलकर्मियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे है

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top