Home > Archived > जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं चेतन कुमार चीता, 9 गोलियां खाकर भी आतंकियों को किया था ढेर

जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं चेतन कुमार चीता, 9 गोलियां खाकर भी आतंकियों को किया था ढेर

 Arun Mishra |  18 Feb 2017 2:19 PM GMT  |  नई दिल्ली

जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं चेतन कुमार चीता, 9 गोलियां खाकर भी आतंकियों को किया था ढेर

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर में हंदवाड़ा में मंगलवार शाम सुरक्षा बलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल सीआरपीएफ के कमांडेट चेतन चीता को दिल्ली के एम्स ट्रॉमा सेंटर में डॉक्टरों की सघन निगरानी में रखा गया है जहां उनकी हालात स्थिर बनी हुई है। एम्स के डॉक्टर अमित गुप्ता ने बताया कि चेतन चीता को चिकित्सा उपकरणों के सहाने सघन निगरानी में रखा गया है। डॉक्टर ने बताया कि फिलहाल कुछ कहा नहीं जा सकता फिलहाल चेतन के शरीर के सभी अंग जैसे किडनी, लंग्स ठीक काम कर रहे रहे हैं।

उधर, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने शुक्रवार को यहां बताया कि चेतन चीता का इलाज सबसे अच्छे चिकित्सक कर रहे हैं। उनकी हालत गंभीर है लेकिन सरकार हर संभव तरीके से मदद करने की कोशिश कर रही है। शनिवार को सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत उन्‍हें देखने के लिए एम्‍स पहुंचे थे।

चेतन मुठभेड़ के वक्त 9 गोली लगने के बाद भी लगातार लड़ते रहे, और तीन आतंकियों को मार गिराया। सोशल मीडिया पर लोग उनके प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए उनकी लंबी उम्र की कामना कर रहे हैं।

बहादुरी की मिसाल बने सीआरपीएफ कमांडेंट चेतन चीता सोशल मीडिया पर आम ही नहीं बल्कि खास लोगों के भी चहेते बन गए हैं। पूरा देश उनके लिए दुआएं मांग रहा है, लोग उनकी तस्वीरें पोस्ट कर रहे हैं। देश के पीएम से लेकर बॉलीवुड के स्टार्स और क्रिकेटर्स सभी एक सुर में बोल रहे हैं कि देश को चेतन चीता पर गर्व है।

Tags:    
Share it
Top