Top
Breaking News
Home > Archived > नोटबंदी का बड़ा असर: एक महीने में सबसे ज्यादा नक्सलियों ने किया सरेंडर

नोटबंदी का बड़ा असर: एक महीने में सबसे ज्यादा नक्सलियों ने किया सरेंडर

 Special Coverage News |  29 Nov 2016 4:40 AM GMT  |  नई दिल्ली

नोटबंदी का बड़ा असर: एक महीने में सबसे ज्यादा नक्सलियों ने किया सरेंडर

नई दिल्ली : माओवाद प्रभावित राज्यों में नोटबंदी का बड़ा असर देखने को मिल रहा है। एक महीने में सबसे ज्यादा नक्सलियों ने सरेंडर किया है। पिछले 28 दिनों के अंदर अब तक कुल 564 माओवादी और उनके समर्थकों ने सरेंडर किया है। एक महीने के अंदर इतनी बड़ी तादाद में माओवादियों का सरेंडर एक रिकॉर्ड है।

हालांकि, माओवादियों पर कार्रवाई में सीआरपीएफ के साथ छत्तीसगढ़, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश में स्थानीय पुलिस की अहम भूमिका रही है तो वहीं पुराने 500 और 1000 रूपये के नोट पर लगे प्रतिबंध ने इस काम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

अधिकारियों के मुताबिक, 564 में से 469 माओवादी और उनके समर्थकों ने 8 नवंबर के बाद से अब तक अपना सरेंडर किया है। 8 नवंबर को ही प्रधानमंत्री की तरफ से पांच सौ एक एक हजार रूपये के पुराने नोट को बैन करने की घोषणा की गई थी। सरेंडर करनेवाले माओवादियों में सत्तर फीसदी ओडिशा के मल्कानगिरी के हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it