Top
Begin typing your search...

दवाइयों और एंबुलेंस की खरीद में केजरीवाल पर कपिल मिश्रा ने लगाया घोटाले का आरोप

Kapil Mishra charges on Kejriwal scandal in drug and ambulance purchase

दवाइयों और एंबुलेंस की खरीद में केजरीवाल पर कपिल मिश्रा ने लगाया घोटाले का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
नई दिल्ली : कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के खिलाफ बड़े खुलासे का दावा किया है। मिश्रा ने अब स्वास्थ्य विभाग में तीन बड़े घोटाले का आरोप लगाया है। कपिल ने आरोप लगाया गया कि दवाओं की खरीद में 300 करोड़ रुपये का घोटाला किया गया है।


दवाइयों और एंबुलेंस की खरीद के साथ अधिकारियों के तबादले में भी घोटाला किया गया, जो दवाएं अस्पतालों में भेजनी चाहिए थी, वो गोदामों में सड़ रही हैं। तरुण सीम को 100 करोड़ की दवाई खरीदने की छूट दी गई।

कपिल ने केजरीवाल, तरुण सीम और सत्येंद्र जैन पर आरोप लगाते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग में नियम-कानून तोड़कर 30 MS की नियुक्ति सत्येंद्र जैन ने की और जूनियरों को एमएस का पद दिया गया। इन मामलों में एलजी के सीधे हस्तक्षेप की जरूरत है।


मिश्रा ने दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में दवाइयों की किल्लत के पीछे घोटाले की आशंका जताई थी। राजधानी के अस्पताल पिछले कई दिनों से इस कमी से जूझ रहे हैं। मिश्रा का कहना था कि केजरीवाल इस कमी की वजहों से अच्छी तरह वाकिफ हैं।

मिश्रा के मुताबिक केजरीवाल को घोटाले की पूरी जानकारी है। इसीलिए उन्होंने ना तो सत्येंद्र जैन से जवाब तलब किया है और ना ही हेल्थ सेक्रेटरी या चीफ सेक्रेटरी को इस बारे में कोई खत लिखा है। मिश्रा कहा कहना था कि इसी हड़बड़ाहट में केजरीवाल अस्पतालों के दौरे कर रह हैं।

मिश्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के भीतर जानबूझकर सत्येंद्र जैन के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है ताकि केजरीवाल को आरोपों से बचाया जा सके। उनका दावा था कि सरकारी अस्पतालों में जरूरत से ज्यादा दवाइयां खरीदे जाने के बावजूद मरीजों को किल्लत महसूस हो रही है।
Kamlesh Kapar
Next Story
Share it