Home > Archived > सरकार जेएनयू से 3000 कंडोम ढूंढ सकती हैं, लेकिन एक लापता स्टूडेंट को नहीं!

सरकार जेएनयू से 3000 कंडोम ढूंढ सकती हैं, लेकिन एक लापता स्टूडेंट को नहीं!

 Special Coverage News |  8 Nov 2016 9:56 AM GMT  |  New Delhi

सरकार जेएनयू से 3000 कंडोम ढूंढ सकती हैं, लेकिन एक लापता स्टूडेंट को नहीं!

नई दिल्ली; जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के नेता कन्हैया कुमार ने लापता छात्र नजीब अहमद का मुद्दा उठाकर सरकार पर निशाना साधा। अपनी किताब 'बिहार से तिहाड़ तक' के लॉन्च पर कन्हैया कुमार ने कहा, 'वे लोग इतने समझदार हैं कि जेएनयू में इस्तेमाल होने वाले कंडोम तो गिन सकते हैं लेकिन उस इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके इतने दिनों में नजीब को नहीं ढूंढ पाए।' यह बात कन्हैया ने बीजेपी के विधायक ज्ञानदेव अहूजा के बयान को लेकर कही।


आपको मालुम होगा, 'अहूजा ने फरवरी में जेएनयू के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के दौरान कहा था, 'जेएनयू में रोजाना सिगरेट के 10,000 और बीड़ी के 4,000 जले हुए टुकड़े मिलते हैं। हड्डियों के छोटे-बड़े 50,000 टुकड़े, चिप्स-नमकीन के 2,000 पैकेट और 3,000 इस्तेमाल किए हुए कंडोम। वहां वे हमारी बहनों और बेटियों के साथ गलत करते हैं। वहां गर्भनिरोध के इस्तेमाल किए हुए 500 इंजेक्शन भी मिले।

आपको बता दें, स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी का छात्र नजीब अहमद शनिवार (15 अक्टूबर) से कथित तौर पर लापता है। उसका लापता होने से एक रात पहले कैंपस में उसका झगड़ा हुआ था। छात्र के अभिभावकों से मिली शिकायत के बाद वसंत कुंज उत्तर थाना में कल एक व्यक्ति के अपहरण और गलत तरीके से कैद कर रखने को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई।

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top