Top
Home > Archived > अडवाणी जी बुजुर्ग नेता हैं, उनकी राय गंभीरता से लेनी चाहिए- उद्धव ठाकरे

अडवाणी जी बुजुर्ग नेता हैं, उनकी राय गंभीरता से लेनी चाहिए- उद्धव ठाकरे

 Special Coverage News |  8 Dec 2016 1:59 PM GMT  |  New Delhi

अडवाणी जी बुजुर्ग नेता हैं, उनकी राय गंभीरता से लेनी चाहिए- उद्धव ठाकरे

नई दिल्ली: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने संसद में हंगामे को लेकर वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी के हाल के बयान पर केंद्र की मोदी सरकार को नसीहत दी है, उन्होंने कहा अडवाणी जी बुजुर्ग नेता हैं, उनकी राय गंभीरता से लेनी चाहिए।

दरअसल संसद में जारी हंगामे पर बुधवार को लालकृष्ण आडवाणी ने नाराजगी जताई थी। संसद में जारी गतिरोध पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि हंगामा करने वाले सांसदों का वेतन काट लेना चाहिए। उन्होंने ये भी कहा कि हंगामा करने वाले सांसदों को बाहर कर देना चाहिए। नोटबंदी के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे ने कहा शिवसेना जनता के साथ रहेगी, जो भी सवाल उठाते हैं वो जनता के मन के होते है।

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it