Top
Begin typing your search...

देशभर के दवा विक्रेता गए हड़ताल पर ,इन जगहों से ले सकते हैं दवाइयां

इन जगहों से ले सकते हैं दवाइयां

देशभर के दवा विक्रेता गए हड़ताल पर ,इन जगहों से ले सकते हैं दवाइयां
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
नई दिल्ली : ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट के आह्वान पर देशभर में आज दवा की दुकानें बंद हैं.एक ओर जहां एसोसिएशन की ओर से ई-पोर्टल नीति का विरोध समेत विभिन्न मांगों को लेकर बंद बुलाया है तो बंद के मद्देनजर औषधि नियंत्रण संगठन ने भी इंतजाम किए हैं.

दरअसल, केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से ई-पोर्टल नीति लाई जा रही है, जिसमें प्रत्येक मेडिकल स्टोर में बिक्री होने वाली दवाओं के बिल अपलोड किया जाना प्रस्तावित हैं.
एसोसिएशन के पदाधिकारियों का दावा है की आईटी के अपर्याप्त संसाधनों को देखते हुए अधिकतर स्टॉकिस्ट और केमिस्ट के लिए नियत समय पर बिक्री की जानकारी ई-पोर्टल पर अपलोड करना मुश्किल होगा. इसके अलावा आर्थिक भार भी बढ़ेगा, लेकिन औषधि नियंत्रण संगठन के आला धिकारियों का मानना है कि ई-पोर्टल के कारण नकली दवाओं के व्यापार पर अंकुश लगेगा.

इसलिए हुई हड़ताल

ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स (एआईओसीडी) के मुताबिक उन्होंने सरकार को सख्त नियम के खिलाफ प्रस्ताव भेजे थे, लेकिन इसे सुना नहीं गया.
AIOCD जंतर-मंतर पर भी अपनी चिंताओं को लेकर प्रदर्शन कर सकता है. दवाइयों के दुकानदार ऑनलाइन फार्मेसी का भी विरोध कर रहे हैं। विक्रेताओं की मानें तो ऑनलाइन फार्मेसी से उनके व्यवसाय को नुकसान होगा. साथ ही दवाइयों के गलत इस्तेमाल और नकली दवाओं की बिक्री को बढ़ावा मिलेगा.

इस हड़ताल के चलते आज आपको परेशानी का सामना ना करना पड़े इसलिए हम आपको बतायेगे ,आपको दवा कहाँ से मिलेगी .

कहां से खरीदें दवाएं:

हम आपको बताते कि आज यदि आपको दवा की जरूरत हो आप कहां जाएं और आपको तुरंत दवा मिल जाए.
आज दवा विक्रेताओं की हड़ताल के बावजूद एम्स, सफदरजंग, आरएमएल, एलएनजेपी, बाड़ा हिंदुराव, जैसे अस्पतालों के बाहर बड़ी दावा की दुकानें खुली रहेंगी.
हड़ताल के मद्देनज़र आप सरकारी अस्पतालों की फार्मेसी से भी दवाएं खरीद सकते हैं. केमिस्ट असोसिएशन ने भरोसा दिलाया है कि अस्पतालों की फार्मेसी को लेकर उनकी कोई लड़ाई नहीं है.
भारत के ज्यादातर शहरों में अब ऑनलाइन मेडिसिन डिलीवरी की सुविधाएं मौजूद हैं. इन्हीं के विरोध में केमिस्ट हड़ताल पर भी हैं.
www.netmeds.com

www.medplusmart.com

www.1mg.com

bigbasket.com

pharmeasy.in
आपको बता दें कि दवाओं की ब्रिक्री को लेकर ''सख्त'' नियमों के विरोध में आज पूरे देश में दवा की दुकानें बंद रहेंगी. ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स (एआईओसीडी) के अनुसार उन्होंने सरकार को सख्त नियम के खिलाफ प्रस्ताव भेजे थे लेकिन इसे सुना नहीं गया और इसके बाद एक दिन की हड़ताल आह्वान किया गया. दवा विक्रेताओं के कई संगठन मिलकर आज आज जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर सकती है.
Alok Mishra
Next Story
Share it