Home > मंत्री पुत्र के गनर ने की पत्रकार की पिटाई, मंत्री ने मांगी माफ़ी

मंत्री पुत्र के गनर ने की पत्रकार की पिटाई, मंत्री ने मांगी माफ़ी

 Special Coverage News |  2016-08-25 10:41:35.0  |  Uttar Pradesh

मंत्री पुत्र के गनर ने की पत्रकार की पिटाई, मंत्री ने मांगी माफ़ी

कैबिनेट मंत्री के पुत्र के गनर ने सरे राह पत्रकार पर भांजी लाठियां। मंत्री पुत्र होने के कारण पुलिस नहीं कर रही कोई कारवाई। साथी पत्रकार की पिटाई को लेकर पत्रकारों में फूटा गुस्सा, विभिन्न पत्रकार संगठन ने बैठक कर जताया विरोध। पुलिस द्वारा उचित कारवाई न की जाने दी चेतावनी।

सपा सरकार में खुद को मिनी मुलायम कहने वाले भ्रष्ट कैबिनेट मंत्री पारसनाथ यादव के कुपुत्र लक्की यादव के गनर ने बीते 21 अगस्त को एक प्रतिष्ठित दैनिक समाचार पत्र व् न्यूज़ चैनल के इन्फॉर्मर ब्रजराज चौरसिया की लाठी से पिटाई कर दी। संवाददाता द्वारा खुद को पत्रकार बताये जाने के बाद भी लाठियां बरसाई जिसमे ब्रजराज का हेलमेट टूट गया। बात बस इतनी सी थी सिटी स्टेशन के पास फ्लाई ओवर के निर्माण के कारण जौनपुर मडियाहू मार्ग पर आये दिन लंबा जाम लगता रहता है। बीते 21 अगस्त को शाम के चार बजे के आस पास पत्रकार ब्रजराज चौरसिया अपने बाइक से मडियाहू से जौनपुर की तरफ जा रहे थे। रामदयालगंज के पास पाली बाज़ार में जाम की वजह से वे भी उस जाम में फस गए। उसी मार्ग में कैबिनेट मंत्री के बिगड़ैल पुत्र लक्की यादव की गाड़ी सायरन बजाते हुए भीड़ में घुस गयी। लेकिन जाम होने की वजह से आगे नहीं बढ़ पा रही थी। यही बात मंत्री पुत्र को नागवार गुजरी। इसके बाद तो लक्की यादव के शह पर उनके अवैध गनर ने जाम में रास्ता बनाने के लिए शुरू किया वीआईपी तांडव नृत्य। पहले तो लक्की यादव और उनके अवैध गनर ने आम जनता को भद्दी भद्दी गालियां देनी शुरू की, लेकिन उन गालियों से उनके जाने लायक रास्ता ना बनने पर गनर ने लाठी का सहारा लिया। लाठी के दम पर गनर ने वीआईपी रौब दिखाते हुए लोगो को पीट कर रास्ता बनाना शुरू किया । उनके रास्ते में रोड़ा बन रहे पत्रकार महोदय को भी गनर ने नहीं छोड़ा। लाठी से मारने का विरोध करने और अपने आप को प्रतिष्ठित समाचार पत्र व प्रमुख न्यूज़ चैनल का इन्फॉर्मर बताने पर मंत्री पुत्र का गनर और भड़क गया। इसके बाद उसने पत्रकार ब्रजराज चौरसिया के हेलमेट पर दो तीन लाठिया और जड़ दिया। जिसके कारण उक्त पत्रकार का हेलमेट का शीशा टूट गया , बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गयी। पत्रकार ने इस बात की शिकायत मौके पर उपस्थित लक्की यादव से किया तो लक्की यादव का कहना था कि " जनता सिर्फ लाठी और गाली की भाषा ही समझती है "। लेकिन लक्की यादव शायद यह भूल गए की चुनाव के समय सारे नेता लाठी की भाषा भूल जाते है। तब उन्हें सिर्फ हाथ जोड़ने और प्यार की भाषा ही आती है।

दूसरी तरफ कैबिनेट मंत्री को इस घटना की जानकारी हुई तो उन्होंने शाम को पीड़ित पत्रकार ब्रजराज चौरसिया को फोन किया और पूरी जानकारी हासिल की। पूरी जानकारी हासिल करने के बाद पारसनाथ यादव ने ब्रजराज से घटना पर दुख व्‍यक्‍त किया, लेकिन साथ ही यह भी कह दिया कि अगर लक्‍की यादव ने ऐसा किया है तो यकीनन वह लक्‍की उनकी असली औलाद नहीं है। बताते हैं कि पारसनाथ यादव ने आश्‍वासन दिया है कि जन्‍माष्‍टमी के दौरान वे इस मामले में हस्‍तक्षेप करेंगे।

जब इस बात की शिकायत पीड़ित पत्रकार द्वारा पुलिस अधिकारियों से की गयी तो खुद को मिनी मुलायम कहने वाले पारसनाथ यादव के पुत्र का नाम सुनकर अधिकारी भी किसी तरह की कार्यवाही करने से बच रहे है। इस बाबत जब पुलिस अधीक्षक जौनपुर अतुल सक्सेना से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि पत्रकार के पिटाई
की शिकायत का मामला आया है । जांच कराकर उचित कार्यवाही की जायेगी। आप हमें 24 अगस्त तक का समय दीजिये। अतुल सक्सेना से जान यह पूछा गया कि किस आधार पर लक्की यादव गनर और लाल बत्ती गाडी लेकर चल रहे है । क्या यह सुविधा उनको दी गयी है ? इस पर पुलिस अधीक्षक ने कहा की हमें 24 अगस्त तक का समय दीजिए।

इधर साथी पत्रकार की पिटाई से नाराज़ जौनपुर इलेक्ट्रॉनिक संघ ने अध्यक्ष राजेश श्रीवास्तव में नेतृत्व में इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की और पुलिस अधीक्षक से मंत्री पुत्र और आरोपी गनर पर कड़ी कार्यवाही की मांग की। विभिन्न पत्रकार संगठनों ने भी श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष विजय मिश्र की अध्यक्षता में सामूहिक बैठक कर आरोपी गनर व् लक्की यादव के खिलाफ कठोर कार्यवाही के साथ पीड़ित साथी को न्याय दिलाने की मांग की। बैठक में विश्वप्रकाश श्रीवास्तव, अजित सिंह, राजबहादुर यादव, अरुण सिंह इत्यादि ने अपने विचार दिए । बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि सपा सरकार की किसी भी प्रेस वार्ता का पत्रकारों द्वारा बहिष्कार किया जायेगा। साथ ही इस घटना की जानकारी प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, DGP उत्तर प्रदेश इत्यादि को दी जायेगी। बैठक में राजेश श्रीवास्तव,विश्वप्रकाश श्रीवास्तव, राजबहादुर यादव, अजित सिंह, मंगला तिवारी , अरुण कुमार सिंह, संजय शुक्ला इत्यादि पत्रकार उपस्थित रहे।

Tags:    
Share it
Top