Top
Breaking News
Home > Archived > आतंकी बुरहान वानी का हाफिज सईद के साथ थे संबंध: CNN

आतंकी बुरहान वानी का हाफिज सईद के साथ थे संबंध: CNN

 Special Coverage News |  2 Dec 2016 10:13 AM GMT  |  New Delhi

आतंकी बुरहान वानी का हाफिज सईद के साथ थे संबंध: CNN

j&k: जुलाई में सुरक्षा बलों के हाथों मारे गए आतंकी बुरहान बानी और हाफिज सईद के बीच बातचीत का एक ऑडियो क्लिप हाथ लगा है। इस ऑडियो क्लिप से अंदाजा लगाया जा रहा है कि बुरहान वानी असल में हाफिज सईद के संपर्क में था। वह उसी के इशारों पर जम्मू-कश्मीर में अपनी नापाक हरकतों को अंजाम दे रहा था।

इस बातचीत से ये भी साफ हो रहा है कि कैसे घाटी में आतंकवाद फैलाने के लिए बुरहान वानी हाफिज सईद से हथियार और पैसों की मदद मांग रहा है। और हाफिज भी बुरहान वानी के आतंक के कारनामों की जमकर तारीफ कर रहा है। इस ऑडियो टेप में हाफिज सईद बुरहान वानी से कश्मीर को लेकर अपने नापाक मंसूबे भी साफ कर रहा है।

बुरहान वानी और हाफिज सईद के बीच बातचीत के कुछ अंश इस प्रकार हैं--

हाफिज सईद- सलाम वालेकुम
बुरहान वानी- वालेकुम सलाम, जी कैसे हैं आप?
हाफिज सईद- बुरहान भाई बोल रहे हैं...
बुरहान वानी- जी, बुरहान बोल रहा हूं, आप ठीक हैं?
हाफिद सईद- अल्ला का बहुत शुक्र है। मुझे खुशी हुई आपसे बात करके, अल्लाताला आपको बरकत दे, अल्लाताला आपको इबादत करने का मौका दे।
बुरहान वानी- हमें बहुत तमन्ना थी आपसे बात करने की..., आपकी सेहत ठीक है।
हाफिज सईद- अल्लाह का शुक्र है। आप मुश्किल हालात में हैं हम जानते हैं, लेकिन आप परेशान नहीं होना। इंशाअल्लाह हम आपके साथ खड़े हैं। जो भी आपके साथ खड़े हैं, जो भी आपको चाहिए हमें कहें। इंशाअल्लाह हम खिदमत के लिए तैयार हैं। मुकम्मल आपके साथ हैं। अल्लाताला आपको बरकत दे। अल्लाताला जल्द मकसद हमारा हमें अता फरमाए। दुश्मन की साजिशें अल्लाताला नाकाम कर दें।
खुफिया सूत्रों से मिले इस ऑडियो टेप में हाफिज सईद बुरहान वानी से कश्मीर को लेकर अपने नापाक मंसूबे भी साफ कर रहा है।
बुरहान वानी- अब मसला ये है ना कि इस टाइम तहरीक को जो नया रोशन मिला है। वो (दुश्मन) पस्त हो गया है तो अल्हमदुलिल्लाह इस मौके को हमें गंवाना नहीं चाहिए। ये हमें जारी रखनी चाहिए और अटैकिंग पॉलिसी जारी रखनी चाहिए दुश्मन पर.... अगर थोड़ा सा आपका साथ चाहिए बस। इंशाअल्लाह दुश्मन को हम यहां से जल्द बाहर निकालेंगे।
हाफिज सईद की तरफ से किस तरीके से आर्थिक मदद मिलती है और कैसे ये नेटवर्क काम करता है। उसका भी खुलासा इस बातचीत से हो रहा है।
बुरहान वानी- जी, बस यही कहना था, मतलब जो लश्कर वाले हैं, उनका थोड़ा सामान है और जो पैसे हैं। वो अगर कम हैं तो मैं सोच रहा था कि इसकी वजह क्या है? अगर उनका नेटवर्क थोड़ा लूज है, तो इंशाअल्लाह मैं इनकी मदद कर सकता हूं। मेरे पास सोर्स है इतना...
हाफिज सईद- ठीक है, ठीक है... इंशाअल्लाह हम काम करेंगे और आपसे मदद लेंगे। और अल्लाताला से ये दुआ करते हैं अल्ला कबूल करें।
बुरहान- आमीन

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it