Home > Archived > स्कूलों के बंद पर भड़के परिजन, कहा अलगाववादियों के बच्चे पढ़ेंगे, दूसरों के बच्चे पत्थर फेंकेंगे?

स्कूलों के बंद पर भड़के परिजन, कहा अलगाववादियों के बच्चे पढ़ेंगे, दूसरों के बच्चे पत्थर फेंकेंगे?

 Special Coverage News |  29 Oct 2016 10:50 AM GMT  |  श्रीनगर

स्कूलों के बंद पर भड़के परिजन, कहा अलगाववादियों के बच्चे पढ़ेंगे, दूसरों के बच्चे पत्थर फेंकेंगे?

श्रीनगर: कश्मीर घाटी में अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ्रेंस की ओर से स्कूलों को बंद करने के आह्वान का स्कूली छात्रों के परिजनों ने विरोध किया है। छात्रों के अभिभावकों ने अलगाववादी नेता गिलानी पर निशाना साधते हुए कहा कि स्कूल खुलने चाहिए। गिलानी साहब की पोती है, वो एग्जाम दे रही है। आखिर हमारे बच्चों का भविष्य खराब क्यों कर रहे हैं।

एक छात्र के पिता ने अपनी पहचान उजागर न करने की शर्त पर मुंह ढककर बयान दिया, 'गिलानी साहब अपने परिवार को सुरक्षित रख रहे हैं। लेकिन हमारे जैसे गरीब लोगों का फायदा उठाया जा रहा है। मुझे अपनी जान का खतरा है, इसलिए मैंने आपसे बात करने के लिए अपना चेहरा ढक रखा है। परिजनों का कहना है कि इस तरह से गरीब छात्रों की शिक्षा में बाधा पहुंचाना गलत है। ऐसा नहीं किया जाना चाहिए।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top