Home > दोस्ती की मिसाल, एक-दूसरे की जान बचाने के लिए कुएं में कूदे तीनों दोस्त की मौत

दोस्ती की मिसाल, एक-दूसरे की जान बचाने के लिए कुएं में कूदे तीनों दोस्त की मौत

 Admin5 |  2016-09-15 11:33:47.0  |  Jharkhand

दोस्ती की मिसाल, एक-दूसरे की जान बचाने के लिए कुएं में कूदे तीनों दोस्त की मौत

बोकारो: झारखंड के बोकारो में गांधीनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत जरीडीह बाजार में गुरुवार को गोदावरी मंदिर के समीप तीन युवकों की कुएं में डूबने से मौत हो गई। इनमें से दो लोगों की जान पहले डूबे युवक को बचाने के प्रयास में गई। घटना सुबह करीब नौ बजे की है। सूचना पाकर रेस्क्यू टीम भी मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक तीनों दम तोड़ चुके थे।

घटना जरीडीह बाजार स्थित गोदावरी मंदिर के समीप कुएं में डूबने से घटी है। मृतकों में अब्दुल अहमद, जैकी निषाद और रॉकी साहनी के नाम शामिल हैं। तीनों युवक 20 से 25 वर्ष के बीच के बताए जा रहे हैं। तीनों युवक जरीडीह बाजार के ही रहनेवाले थे। जानकारी के अनुसार, सुबह जैकी और रॉकी मंदिर धोने का काम कर रहे थे। वहीं उनका दोस्त अब्दुल अहमद कुएं के पास बैठा था। इसी दौरान अचानक वह चक्कर खाकर कुएं में गिर गया। यह देख उसे बचाने के लिए जैकी निषाद कुएं में कूदा। जब कुछ समय बाद वह भी कुए से बाहर नहीं आया तो रॉकी साहनी ने भी दोनों को बचाने के लिए कुएं में छलांग लगा दी। घटना की सूचना पाकर थोड़ी देर में ग्रामीण मौके पर पहुंचे और तीनों को कुएं से बाहर निकाला।

ग्रामीणों ने आनन-फानन में तीनों को फुसरो अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इधर, स्थानीय लोगों का आरोप है कि सूचना के बाद भी न तो पुलिस मौके पर पहुंची और न ही सीसीएल प्रबंधन के लोग। बाद में कथारा की रेस्क्यू टीम पहुंची, लेकिन इससे पहले ग्रामीण शव को कुएं से बाहर निकाल चुके थे। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने फुसरो अस्पताल में जमकर हंगामा किया। घटना के विरुद्ध जरीडीह बाजार को भी बंद कर दिया गया और सड़क को जाम कर दिया गया है। लोग मृतकों के परिजनों को समुचित मुआवजा, नौकरी आदि की मांग कर रहे हैं। घटना की जानकारी मिलने पर पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह और डुमरी विधायक जगरनाथ महतो सहित कई लोग अस्पताल पहुंचे और मृतकों के परिजनों का ढांढस बंधाया।

Tags:    
Share it
Top