Home > Archived > गिरफ्तारी के डर से पिता के जनाजे को कंधा देने नहीं पहुंचे जाकिर नाइक

गिरफ्तारी के डर से पिता के जनाजे को कंधा देने नहीं पहुंचे जाकिर नाइक

 Special Coverage News |  31 Oct 2016 11:56 AM GMT  |  Mumbai

गिरफ्तारी के डर से पिता के जनाजे को कंधा देने नहीं पहुंचे जाकिर नाइक

मुंबई: विवादित धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के पिता अब्दुल करीम नाइक का रविवार को शहर के एक अस्तपताल में निधन हो गया। सूत्रों ने बताया कि नाइक अभी मलेशिया में हैं, लेकिन गिरफ्तारी के डर से पिता के जनाजे को कंधा देने नहीं पहुंचे।

मुंबई में अपने घर पर नाईक के पिता अब्दुल करीब नाईक का रविवार तड़के दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। वे 87 वर्ष के थे और पेशे से फिजिशियन और शिक्षाविद थे। जाकिर के एक सहयोगी ने बताया - मझगांव स्थित अपने आवास पर तड़के 3.30 बजे उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह उससे उबर नहीं सके। अब्दुल पिछले कुछ समय से बीमार थे। इसी इलाके के एक कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया। तटीय महाराष्ट्र के रत्नागिरी में जन्मे अब्दुल पेशे से डॉक्टर थे। मानसिक स्थास्थ्य पेशेवरों की निजी संगठन बॉम्बे साइकिऐट्रिक सोसायटी के वह 1994-95 में अध्यक्ष भी रहे।

हालांकि नाइक के खिलाफ कोई ताजा FIR नहीं है, पर केंद्र सरकार उनके NGO इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को 'अवैध संस्था' घोषित करने की तैयारी में है। बताया जा रहा है कि केंद्र की तरफ से फाइनल किए गए ड्राफ्ट में नाइक के भड़काऊ भाषण, उनके खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों और पीस टीवी के साथ उनके संबंधों का जिक्र किया गया है।

वहीं जब मंजूर शेख से पूछा गया कि जाकिर नाइक अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल क्यों नहीं हुए तो उन्होंने कहा,'यह सब कुछ अचानक हुआ इसलिए वह नहीं आ पाए।' उन्होंने कहा कि वह जाकिर के मुंबई लौटने के बारे में कुछ नहीं जानते।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top