Home > गोवा: CM पारसेकर का एमजीपी नेता को दो टूक, पहले इस्तीफा दीजिए, फिर खिलाफ बोलिए

गोवा: CM पारसेकर का एमजीपी नेता को दो टूक, पहले इस्तीफा दीजिए, फिर खिलाफ बोलिए

 Special Coverage News |  2016-12-12 13:35:18.0  |  New Delhi

गोवा: CM पारसेकर का एमजीपी नेता को दो टूक, पहले इस्तीफा दीजिए, फिर खिलाफ बोलिए

पणजी: गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने आज एमजीपी नेता और राज्य के परिवहन मंत्री सुदीन धवलीकर के हालिया बयान को लेकर उनकी आलोचना करते हुए कहा कि नाखुश लोग अलग होने के लिए स्वतंत्र हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले धवलीकर ने मुख्यमंत्री पारसेकर पर आरोप लगाया था कि उनके ढाई वर्ष के शासन काल में राज्य दस वर्ष पीछे चला गया है। एमजीपी पहले ही घोषणा कर चुकी है कि अगर पारसेकर आगामी विधानसभा चुनावों में राज्य भाजपा विधायक दल का नेतृत्व करते हैं तो उनकी पार्टी
भाजपा के साथ गठबंधन नहीं
करेगी।

उनके इस बयान के जवाब में धवलीकर ने संवाददाताओं से कहा, ''सुदीन धवलीकर मेरे लिए एजेंडा तय करने वाले नहीं हैं। अगर राज्य सरकार में उनको घुटन महसूस हो रही है तो उन्हें इस्तीफा देकर जाना चाहिए और फिर हमारे खिलाफ सार्वजनिक बयान देना चाहिए।'' उनके इस बयान से भाजपा-एमजीपी गठबंधन के बीच का गतिरोध और बढ़ता दिख रहा है।

इसके उत्तर में पारसेकर ने आज एमजीपी पर गठबंधन के सहयोगियों के प्रति वफादार नहीं होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ''वे गठबंधन के प्रति वफादार नहीं हैं, वे केवल सत्ता के साथ रहते हैं। वर्ष 2012 के चुनावों से पहले वे कांग्रेस के साथ थे।'' मुख्यमंत्री ने कहा, ''मौजूदा सरकार मेरी है। अगर कोई इससे खुश नहीं है या हम काम नहीं कर रहे हैं तो वे त्यागपत्र देकर जाने को स्वतंत्र हैं।''

Share it
Top