Home > Archived > सिद्धि पाने के लिए दादी ने दी पोते-पोती की बलि, खुद को बताया 'शेषनाग' की आत्मा

सिद्धि पाने के लिए दादी ने दी पोते-पोती की बलि, खुद को बताया 'शेषनाग' की आत्मा

 Kamlesh Kapar |  2017-03-09T16:40:48+05:30  |  बठिंडा

सिद्धि पाने के लिए दादी ने दी पोते-पोती की बलि, खुद को बताया शेषनाग की आत्मा

बठिंडा : कोट फतेह गांव में दिल दहला देने वाला एक मामला सामने आया है। 56 साल की निर्मल कौर नाम की महिला ने अपने बेटे के साथ मिलकर अपने ही पांच साल के मासूम पोते और तीन साल की पोती की बलि दे डाली। महिला और इसका बेटा दोनों तांत्रिक हैं और अपने आप को भगवान बताते हैं। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि इस तांत्रिक महिला ने एलान किया कि उसे जल्द ही सिद्दि मिलने वाली है लेकिन उसके लिए दो बच्चों की बलि जरुरी है। महिला ने कहा कि बलि देने के बाद उसमें शक्ति आ जाएगी और वो इन दोनों बच्चों को फिर से जिंदा कर देगी।

इस घटना के बाद गांव वालों ने पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस ने तांत्रिक महिला और इसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया। काफी दिनों से ये मां-बेटा खुद में शेषनाग की आत्मा आने का दावा कर रहे थे। इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। कत्ल के समय बच्चों की मां और दोनों बुआ भी घर पर थीं, लेकिन उनको कमरे में बंद कर दिया गया था। बच्चों की मां और बुआ दोनों की हालत दयनीय है। उनको डाक्टरी सहायता दी जा रही है।

Tags:    
Share it
Top