Home > Archived > जयपुर : भट्टा बस्ती थाना पुलिस द्वारा सगे भाई की हत्या करने वाला गिरफ्तार

जयपुर : भट्टा बस्ती थाना पुलिस द्वारा सगे भाई की हत्या करने वाला गिरफ्तार

 Arun Mishra |  2017-03-09T14:53:58+05:30  |  New Delhi

जयपुर : भट्टा बस्ती थाना पुलिस द्वारा सगे भाई की हत्या करने वाला गिरफ्तारअंशुमन भौमिया डी.सी.पी नार्थ, हरजी लाल यादव (थाना प्रभारी)

जयपुर शहर में खून के रिश्तों को कंलकित करने का एक अनोखा मामला सामने आया है। दिनांक 23 फरवरी को श्रीराम टिला कच्ची बस्ती, निवासी रामप्रसाद साहू जो हत्या के अपराध में 14 वर्ष जेल काटकर आया था। अभियुक्त रामप्रसाद साहू द्वारा अपने ही दिव्यांग सगे छोटे भाई मोती साहू की लठ से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

इस प्रकरण में शातिर अपराधी के द्वारा अपराध कारित करने के प्रमाण मिलने पर जिला पुलिस आयुक्त अंशुमान भौमिया ने इस हत्याकाण्ड की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त सैकण्ड राजेश मील जगमोहन शर्मा सहायक पुलिस उपायुक्त वृत्त अधिकारी एवं भट्टा बस्ती, थाना प्रभारी हरजीलाल यादव की एक संयुक्त टीम गठित की।

पुलिस टीम को रामप्रसाद के अपनी रिश्तेदारी मे संवाई माधोपुर एवं बूंदी जिले में जाने की सूचना मिलने पर पुलिस बल ने उसके ठिकानों पर दबिश दी। इससे घबराकर अभियुक्त रामप्रसाद साहू जयपुर की ओर वापस भागा। जयपुर में राम प्रसाद के आने की सूचना पर टीम ने सोड़ाला झोटवाड़ा मुरलीपुरा, सांगानेर, सांगानेर सदर थानों के क्षेत्र में गहनता से तलाशी शुरू की। 04.03.2017 को नाला अमानीशाह के गुप्त रास्तों से भागने की सूचना मिलने पर टीम ने अभियुक्त रामप्रसाद साहू को दबोच लिया।

अभियुक्त रामप्रसाद साहू को अपने सगे छोटे भाई मोतीलाल की हत्या के जुर्म में गिरफ्तार करके उससे पूछताछ की गई। पूछताछ में सामने आया कि आज से 14 वर्ष पूर्व राम प्रसाद साहू ने अपने ही एक साथी की भी किशन बाग में एक मन्दिर में हत्या कर दी थी। इसके जुर्म में वह 14 वर्ष जेल में बिताकर हाल ही में जेल से छूटा था। जेल से बाहर सजा काटकर आने पर रामप्रसाद को पता चला कि आज के चार वर्ष पूर्व उसके पिता की मृत्यु हो गई थी।

पिता का मकान उसके दिव्यांग छोटे भाई ने बेच दिया है। इस पर शराब के नशे में घर आकर रामप्रसाद ने अपने भाई से कहा कि तूने पिताजी को क्यों मारा। पिता को मारने की धारणा बैठने के कारण रामप्रसाद ने इसी रजिंसवश अपने छोटे भाई को भी मार डाला। जिला पुलिस उपायुक्त के निर्देशोंनुसार पुलिस ने तत्परता से जांच करके इस केस का पर्दाफाश कर मुल्जिम को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना की जांच में थानाधिकारी भट्टा बस्ती हरजीलाल यादव का उल्लेखनीय रोल रहा है। हरजीलाल यादव जयपुर पुलिस आयुक्तालय के श्रेष्ठ पुलिस अधिकारियों में माने जाते है।
मो. हफीज, व्यूरो चीफ, राजस्थान

Tags:    
Share it
Top