Home > Archived > PMJA महासचिव ओमप्रकाश शर्मा ने पत्रकार धर्मेन्द्र के हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की

PMJA महासचिव ओमप्रकाश शर्मा ने पत्रकार धर्मेन्द्र के हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की

 Special Coverage News |  14 Nov 2016 9:37 AM GMT  |  New Delhi

PMJA महासचिव ओमप्रकाश शर्मा ने पत्रकार धर्मेन्द्र के हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की

जयपुर: अगर पत्रकार इसी तरह मरते रहे और हम चुपचाप मूक दर्शक बन कर देखते रहे तो हो सकता है,हम सुरक्षित न रहें. हम सुरक्षित जीवन बिता सकें ये भी कोई गारंटी नहीं होगी. लेकिन आगे आने वाली भावी पीड़ी को हम क्या कायरतापूर्ण जीवन जीने की विरासत देंगे? क्या हम अपनी आगे आने वाली पत्रकारों की पीड़ी को समझौता वादी बनाना चाहेंगे? क्या भारत मैं अब तक अपने कर्तव्य पथ की बलिवेदी पर मर मिटने वाले पत्रकारों को हम जवाब दे सकेंगे? क्या हम उन पत्रकार साथियों के परिवारों के साथ अन्याय नहीं कर रहे हैं. देश की सीमा पर शहीद होने वाले साथियों पर हमें गर्व है उनके परिवारों के साथ पूरी सहानुभुति है.


पत्रकार भी अपनी कलम पर शहीद होता है. इस समाज मैं फैली गंदगी को साफ करने लिए अपनी कलम चलाता है, और अपने कर्तव्य पथ की बलिवेदी पर शहीद हो जाता है. क्या पत्रकार को और पत्रकार संगठनों को सुरक्षा नहीं मिलनी चाहिए? क्या स्व. धर्मेन्द्र के परिवार को आर्थिक सहायता नहीं मिलनी चाहिए? मेरे कुछ पत्रकार साथियों न एक ज्वलंत प्रश्न पूछा है, कि क्या हम पत्रकार किसी भी साथी की के मारे जाने पर पर भाषण ही देते रहेंगे, केवल श्रद्धांजली ही देते रहेंगे, मुझे लगता है यह प्रश्न उस साथी ने मुझसे ही नहीं आप सबसे भी पूछा है? जवाब भी आप सभी पत्रकारों को देना है. जहाँ तक मेरा प्रश्न है. प्रिंट मीडिया जर्नलिस्ट एसोसिएशन सदा से ही पत्रकारों की सुरक्षा के लिए पत्रकार सुरक्षा विधेयक बनाने की मांग सरकार से करती आ रही है. मैं यह नहीं कहता की आप उपरोक्त एसोसिएशन के साथ मिलकर पत्रकारों की सुरक्षा के लिए लड़ाई करें. आप कहीं भी किसी भी मंच पर संघर्ष करे. लेकिन मेरी आपसे और सभी पत्रकार साथियों से अपील है की आप सब संगठित होकर पत्रकारों की सुरक्षा के लिए संघर्ष करें. यदि हम इसमें सफल हो जाते हैं. तो हम अपने उन सभी पत्रकारों को सच्ची श्रधान्जली देंगे जो अपनी कलम चलाते हुए कर्तव्य पथ पर शहीद हो गए.



बिहार से दैनिक भास्कर के पत्रकार श्री धर्मेन्द्र सिंह जिनकी समाज कंटकों ने गत दिनों गोली मरकर हत्या कर दी. श्री धर्मेन्द्र सिंह को तुरंत होस्पिटल ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. सुनने मैं आया है कि श्री धर्मेन्द्र को काले धन और आतंकवादियों के बारे मैं कोई धमकी मिली थी. इससे पहले की वो उन असामाजिक तत्वों की तह तक पहुँच सके. उनको मौत के घाट उतार दिया गया. इस हत्या कांड से बिहार ही नहीं पूरे देश के पत्रकार आक्रोशित हैं. प्रिंट मीडिया जर्नलिस्ट एसोसिएशन इस हत्या कांड की बहुत ही कड़े शब्दों मैं निंदा करती है. बिहार सरकार से तुरंत धर्मेन्द्र हत्या कांड की जाँच विशेष जांच दल से कराने की मांग सहित पत्रकार धर्मेन्द्र सिंह के परिवार को सहयोग राशी देने की मांग करती है.


प्रिंट मीडिया जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष परवेज़ भारतीय ने बिहार के प्रभारी राष्ट्रिय महासचिव ओमप्रकाश शर्मा को निर्देश दिए हैं. बिहार की प्रदेश इकाई से इस हत्याकांड की रिपोर्ट केद्रीय कार्यालय को भेजने को कहें. प्रिंट मीडिया जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीयअध्यक्ष परवेज़ भारतीय ,राष्ट्रीयमहामंत्री ओमप्रकाश शर्मा ,महेश दीक्षित सहित राजस्थान,बिहार ,उडीसा दिल्ली उत्तराखंड मध्यप्रदेश ,झारखंड ,गुजरात सहित विभिन्न राज्यों के प्रदेशाध्यक्ष और जिलाध्यक्षों न धर्मेन्द्र सिंह की असामयिक और जघन्य हत्या कांड की कठोर शब्दों मैं निंदा की. पत्रकार धर्मेन्द्र के परिजनों को हौसला रखने की उपर वाला हिम्मत दे ताकि इस दुःख की घड़ी में हिम्मत बनी रहे.

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top