Home > देवघर से लौट रहे कांवड़ि‍यों को बेकाबू ट्रक ने रौंदा, 5 की मौत, 8 घायल

देवघर से लौट रहे कांवड़ि‍यों को बेकाबू ट्रक ने रौंदा, 5 की मौत, 8 घायल

 Special Coverage News |  2016-07-26 09:47:03.0  |  Bihar

देवघर से लौट रहे कांवड़ि‍यों को बेकाबू ट्रक ने रौंदा, 5 की मौत, 8 घायल

जमुई: बिहार के जमुई जिले के चकाई के धौघट पुल के पास तेज रफ्तार ट्रक ने सड़क किनारे खड़े 13 कांवरियों को रौंद दिया। इस हादसे में 5 कांवड़ियों की मौत हो गई है और 7 कांवड़िया गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे में हताहत हुए सभी लोग पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया के हैं।

सभी कांवड़िया देवघर से पूजा कर बेतिया लौट रहे थे। लौटने के दौरान वे राजगीर पूजा करने के लिए जा रहे थे। इसी दौरान चकाई के धौघट पुल के पास जीप में कुछ खराबी आ गई। ड्राइवर ने सभी से कहा कि आपलोग नीचे उतर जाइये। इसके बाद सभी कांवरिया सड़क किनारे खड़े हो गए। इसी दौरान एक बेकाबू बालू से लदे ट्रक ने सभी कांवड़ियों को रौंद डाला। जिससे 5 कांवड़ियों की तो घटनास्थल पर ही मौत हो गई और जबकि
7 कांवड़िया
गंभीर रुप से घायल हो गए हैं। इस भीषण सड़क हादसे में ट्रक भी पलट गया।

सभी घायल कांवड़ियों को पास के ही जमुई के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनका इलाज किया जा रहा है। सभी कांवड़ियों की पहचान हो गई है। सभी मृतक और घायल पिपरहिया गांव के रहने वाले हैं। गणेश मुखिया सिमरीमान गांव के रहने वाले हैं।

हादसे में जिनकी हुई मौत उनके नाम हैं चंद्रिका मुखिया, हरेंद्र मुखिया, राम बाबू शर्मा, शैलेश तलवार और सुरेश बैठा।

हादसे में जो घायल हुए है उनके नाम है धनंजय मुखिया, विजय साव, बाबूलाल मुखिया, शंकर मुखिया, भरत कुमार, पूजा चौधरी, गुप्तचन्द साव और गणेश मुखिया।

घटनास्थल पर पहुँचे जमुई के एसपी जयंतकांत ने कहा कि ट्रक का टायर पंचर हो जाने के कारण ट्रक नियंत्रण से बाहर हो गया। जिस कारण ये हादसा हुआ। घटनास्थल पर अफरातफरी का माहौल बन गया। स्थानीय प्रशासन को छोड़ जिला का कोई भी आलाधिकारी घटनास्थल पर नही पहुंचा है। कांवरियों को सावन महीने में जिला प्रशासन के मिलने वाली सुविधा नहीं देखने को मिली। जिस कारण कांवड़ियों में काफी आक्रोश पाया गया।

Tags:    
Share it
Top