Top
Home > Archived > नोटबंदी से मोदी ने भारत को बीसों साल पीछे कर दिया : राशिद अल्वी

नोटबंदी से मोदी ने भारत को बीसों साल पीछे कर दिया : राशिद अल्वी

 Arun Mishra |  11 Dec 2016 1:35 PM GMT  |  सम्भल

नोटबंदी से मोदी ने भारत को बीसों साल पीछे कर दिया : राशिद अल्वी

सम्भल (सनी गुप्ता) : कांग्रेस नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद राशिद अल्वी ने आज यूपी के संभल में आज नोटबन्दी पर जमकर निशाना साधा। जनसभा को सम्बोधित करते हुए अल्वी ने कहा कि मोदी को शर्म आनी चाहिए कि उन्होने 97 साल की बूढी मां को बैंक की कतार में खड़ा कर दिया इससे भारतीय संस्कृति का अपमान हुआ है। नोटबंदी से भारत को बीसों साल पीछे कर दिया तथा गुजरात में दंगा कराकर विश्व में भारत को बदनाम कर दिया था।

नोटबंदी पर बोलते हुए उन्होने कहा कि भाजपा सरकार ने गरीब लोगों को बैंक की कतार में लगा दिया है अपने ही पैसे निकालने के लिऐ गरीब आदमी भिखारी बना दिया है जिससे भाजपा को आने वाले चुनाव में पता चल जाएगा। जनता भाजपा का सूपड़ा साफ कर देगी।

मुलायम पर बोला हमला :
राशिद अल्वी ने प्रदेश सरकार पर भी जमकर हमले किए। उन्होने कहा कि प्रदेश में गुण्डाराज एंव भ्रष्टाचार चरम पर है। मुलायम सिंह पर हमला करते हुए कहा कि बिहार के चुनाव के समय महागठबंधन बना था जिसके अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव हुए थे परन्तु मुलायम सिंह यादव भाजपा के इशारे पर गठबंधन से बाहर हो गए थे इससे भाजपा सपा के रिश्ते उजगार हुए थे। राशिद अल्वी ने आखिर में भीड़ से कहा कि अगले वर्ष होने वाले विधान सभा चुनाव में सोच समझकर मतदान करें। साम्प्रदायिक शक्तियों को हराकर लोकतांत्रिक वाली सरकार चुनें।

तीन तलाक के मुद्दे पर भी बोले :
तीन तलाक के मामले में उन्होने कहा कि मोदी पहले अपनी पत्नी तथा परिवार की समस्या दूर करें वह मुसलमानों को न देखें।उन्होने यह भी कहा कि इसलाम में औरतों को बराबर का हक दिया है।

लवजेहाद के मुद्दे पर भी बोले :
राशिद अल्वी ने लवजेहाद को एक सोची समझी साजिश कराकर देते हुए कहा कि वैसे तो यह मामले आपसी सहमति से होते हैं परन्तु भाजपा एवं हिन्दू संगठन इसको तूल देकर साम्प्रदायिकता फैलाने का काम करते हैं।
जब आतिर हुसैन को लेकर हुआ हंगामा :
जिलाध्यक्ष विमलेश कुमारी, शहर अध्यक्ष तौकीर अहमद, पूर्व प्रदेश सचिव अशरफी सैफी सहित दर्जन पर पार्टी पदाधिकरी कार्यक्रम में नहीं पहुंचे। बंद हाॅल में हंगामा हुआ तो बाहर मौजूद मीडिया दौड़ पड़ी। कांग्रेसियों में आपस में नोकझोंक होती रही और एक दूसरे पर आरोप लगते रहें। वहीं कांग्रेसियों ने अपने नेता राशिद अल्वी पर आरोप लगाते हुए कहा कि राशिद अल्वी साहब हमसे कांग्रेसी होने का सबूत और रसीद मांग रहे है। हाॅल से लेकर बाहर तक राजेश्वरी त्यागी और दाउद पाशा पार्टी नेता राशिद अल्वी पर बरस पड़े। उधर राशिद अल्वी बाहर निकले तो मीडिया ने उन्हें घेर लिया। मीडिया के पूछने पर उन्होंने किसी भी हंगामे से इंकार किया और गाडी में बैठकर चले गए। जनसभा में नहीं पहुंचने वाले तथा हंगामा करने वालों में कई नेता टिकट की दावेदारी कर रहे है। उनका विरोध आतिर हुसैन को लेकर है। क्योंकि कई बार उन्होंने हंगामे के दौरान आतिर हुसैन का नाम लेकर कई आरोप लगाए।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it