Top
Begin typing your search...

बरेली में भाजपाइयों ने दिखाई सत्ता की हनक, थाने में हंगामा कर सिपाही से मंगवाई माफी

बरेली में भाजपाइयों ने दिखाई सत्ता की हनक, थाने में हंगामा कर सिपाही से मंगवाई माफी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली में किताब की दुकान पर नॉट फार सेल की किताब बेचने की ग्राहक की शिकायत पर पीआरवी पुलिस पहुंची तो दुकानदार ने खुद को सत्ता की हनक में बीजेपी नेता बताकर भिड़ गया. जब सिपाही ने दुकानदार को थाने ले आया तो बड़ी संख्या में पहुंचे भाजपाइयों ने जमकर हंगामा किया.

करीब एक घंटे बाद सिपाही के माफी मांगने पर मामला शांत हुआ. लाल फाटक कांधरपुर निवासी रफीक अहमद ने केजी में पढ़ने वाले बेटे के लिए सदर मार्केट में जायसवाल बुक स्टोर के मालिक अनूप जायसवाल से किताबें खरीदीं. इनमें एक बुक नॉट फार सेल की थी.

बदलने को कहा तो अनूप ने दूसरी किताब देने से साफ मना कर दिया. रफीक की शिकायत पर पीआरवी 154 पहुंची तो दुकानदार सिपाही योगेन्द्र पाण्डेय से भिड़ गया. उसने बीजेपी नेता शशिकांत से फोन पर बात कराई तो आरोप है उन्होंने भी सिपाही से अभद्रता की.

इस पर पुलिस अनूप जायसवाल को थाने ले गई. इसके बाद महानगर अध्यक्ष उमेश कठेरिया और शशिकान्त तकरीबन 100 पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कैंट थाने पहुंचे और जमकर हंगामा किया. सिपाही पर कार्रवाई को लेकर अड़ गए. बाद में इंस्पेक्टर सुरेन्द्र सिंह पंवार ने सिपाही से माफी मंगवाकर मामला रफा-दफा कर दिया.
Next Story
Share it