Home > Archived > फतेहपुर में बोले PM मोदी, रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी बिजली मिलनी चाहिए

फतेहपुर में बोले PM मोदी, 'रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी बिजली मिलनी चाहिए'

 Arun Mishra |  19 Feb 2017 10:38 AM GMT  |  फतेहपुर

फतेहपुर में बोले PM मोदी, रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी बिजली मिलनी चाहिए

फतेहपुर : उत्तरप्रदेश में विधानसभा चुनाव में आज तीसरे चरण में 12 जिलों की 69 सीटों पर मतदान जारी है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज फतेहपुर में चुनावी रैली को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा की अगर रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी बिजली मिलनी चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि धर्म के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए। सबका साथ, सबका विकास के मंत्र के साथ मैं आप से आशीर्वाद लेने आया हूं। गांव में कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए। रमजान में बिजली आती है तो दिवाली में भी आनी चाहिए।

पीएम ने कहा कि शिवाजी के सपने को हर हिंदुस्तानी सेवा जी बनकर पूरा करें। देश आज भी कह रहा है, अच्छा होता अगर देश के पहले प्रधानमंत्री सरदार पटेल होते। 70 सालों के बाद हम सही नीतियां लागू करके सरदार पटेल के सपनों को पूरा कर सकते हैं। मोदी ने कहा कि 14 सालों के बाद उत्तर प्रदेश से भी विकास का वनवास खत्म होना चाहिए।

सपा उम्मीदवार गायत्री प्रजापति पर लगे रेप के आरोपों पर पीएम ने कहा कि अखिलेश ने चुनाव अभियान प्रजापति के चुनाव प्रचार से शुरू किया। यूपी जानना चाहती है कि क्या सपा-कांग्रेस गठबंधन प्रजापति जितना पवित्र है? सपा के कार्यकाल में पुलिस थाना, सपा के कार्यालय में बदल गए. सुप्रीम कोर्ट को आदेश देना पड़ा कि गायत्री प्रजापति के खिलाफ FIR लिखो। जिस प्रदेश में न्याय के लिए सुप्रीम कोर्ट को बीच में आना पड़ा, उस प्रदेश में कौन सा काम किया अखिलेश जी?

मोदी ने कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था नहीं होने की वजह से यहां के लोग सुरक्षित नहीं हैं। यहां रोजगार, उद्योग नहीं लग रहा है, इसलिए यहां से पलायन हो रहा है। आज दलित, शोषित, पीड़ित और गरीब सबसे ज्यादा जुल्म का शिकार हो रहे हैं, लेकिन सरकार इसकी सुध नहीं ले रही। बीजेपी की सरकार बनेगी तो जिस-जिस की जमीन छीनी गई है, उसे उसकी जमीन लौटाई जाएगी. हमारी सरकार गरीब के लिए है।

पीएम मोदी ने कहा कि सपा पहले कहती थी कि किसी से समझौता नहीं होगा. 2/3 बहुमत से जीतेंगे। फिर दोनों लोग मिल गए और फिर कहने लगे कि बहुमत मिल जाएगा। लेकिन आज मतदान के बाद अखिलेश यादव का चेहरा लटका हुआ था। आवाज में दम नहीं था. डरे हुए थे, शब्द खोज रहे थे। लगा जैसे बाजी हार चुके हैं। आज कहने लगे हमारी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनेगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top