Home > Archived > सौतेली मां के अत्याचार से परेशान बच्चे को मदद की दरकार

सौतेली मां के अत्याचार से परेशान बच्चे को मदद की दरकार

 शिव कुमार मिश्र |  4 March 2017 6:36 AM GMT  |  New Delhi

सौतेली मां के अत्याचार से परेशान बच्चे को मदद की दरकार

हरदोई: कहते हैं माँ ममता की मूरत होती है। फिर ये सौतेली माँ के अंदर ममता क्यों नहीं होती। मासूम बच्चे को किस गुनाह की सजा मिल रही है, शायद उसे नहीं पता। पर हाँ। सभ्य समाज में अत्याचार के शिकार इस बच्चे को मदद की दरकार है।


दरसअल संडीला कोतवाली क्षेत्र के उन्नाव रोड संडीला निवासी रानी मिश्रा पत्नी सुधीर मिश्रा आये दिन अपने 11 वर्षीय सौतेले पुत्र सरस कुमार मिश्रा को मारती पीटती रहती थी। बच्चे की दुर्दशा देख कर आस पास के लोगों ने चाइल्ड हेल्प लाइन 1098 पर फोन कर सूचना दी, जिस पर चाइल्ड लाइन की तरफ से डायल 100 को सूचना दी गयी। सूचना पाकर डायल 100 के पुलिसकर्मी मासूम सरस कुमार मिश्रा को अपने साथ लेकर संडीला कोतवाली आ गए, जहां पर पुलिस को बच्चे ने पूरी बात बताई। अपने पर हो रहे अत्याचार की कही कहानी जब उसने पुलिस को सुनाई तो वहाँ मौजूद अन्य लोगों में ऐसी माँ के प्रति नफरत पैदा हो गयी। रानी मिश्रा सौतेले बेटे को छोटी छोटी बातों पर बेतहासा मारती पीटती और उससे अन्य जोखिम भरे कार्य व घरेलू कार्य कराती थी। वह अपने इस कृत्य को बच्चे द्वारा किसी से न बताने के लिए भी धमकाती रहती थी।

शुक्रवार की दोपहर किसी बात को लेकर सौतेली माँ ने बच्चे को बहुत ही बुरी तरह मारा पीटा जिससे उसके शरीर पर नीले व लाल चोट के निशान उभर आये। बच्चे की रोने चीखने की आवाज़ें सुन कर आस पास के लोगो ने मामले को सुन कर शांत रहना उचित न समझा और शिकायत कर दी। संडीला पुलिस द्वारा मामले को दर्ज कर लिया गया है। कोतवाल उमाशंकर उत्तम का कहना है कि मामले की गहन पड़ताल की जायेगी और दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही भी की जायेगी। अब सवाल उस बच्चे के भविष्य का है। कौन होगा उसका खेवनहार ये शायद ईश्वर ही तय करेगा।

रिपोर्ट-ओम त्रिवेदी हरदोई

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top