Home > Archived > 5 हजार के लालच में डॉक्टर ने मरीज की ले ली जान!

5 हजार के लालच में डॉक्टर ने मरीज की ले ली जान!

 शिव कुमार मिश्र |  8 March 2017 12:14 PM GMT  |  New Delhi

5 हजार के लालच में डॉक्टर ने मरीज की ले ली जान!

हरदोई: जिला अस्पताल में चंद पैसों के लालच में धरती के भगवान हैवान बन जाते हैं। यह सिलसिला अभी थमा नहीं है। वजह है प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही।
सर्जन सुरजीत कुमार द्वारा मरीजों से धन उगाही के चक्कर में बदसलूकी करने का मामला अभी थमा भी नही था कि ईएनटी डा जेएन तिवारी ने 5000 हजार रुपए के लालच में मरीज की जान ले ली।


दरअसल मझिला थाना क्षेत्र के पिस्तिया गांव निवासी 67 वर्षीय छोटेलाल को गले में तकलीफ थी। उन्होंने एक दिन पूर्व डा डीके गुप्ता से परामर्श लिया था, जिसमे कैंसर की बात कही गयी थी। आज बुधवार को छोटेलाल को उनकी पुत्री मैना व गोदरानी और दामाद रमेश ईएनटी डा जेएन तिवारी को दिखवाया। डा ने 5000 रूपये में सौदा तय किया, और बगैर भर्ती किये ही ऑपरेशन शुरू कर दिया। सुबह लगभग 8:30 से शुरू हुए ऑपरेशन के दौरान 2100 रूपये की दवा बाहर की भी लिख दी। यही नहीं रिश्वत में अंधे डॉक्टर ने मरीज की जाँच कराना भी मुनासिब नहीं समझा, नतीजन ऑपरेशन के दौरान सुबह 10:30 बजे मरीज की मौत हो गयी। चिकित्सक की लापरवाही देख परिजन भड़क गए। जब बवाल होने लगा तो अपनी करतूत पर पर्दा डालने के लिए डा जेएन तिवारी ने ऑपरेशन के लिए वसूले गए 5 हजार रूपये मृतक के परिजनों को वापस कर दिए। यही नहीं मरीज की मौत के बाद 12:30 बजे फर्जी बीएचटी तैयार की गयी। उधर अस्पताल में हंगामा देख जब भीड़ जुटने लगी तो आरोपी डॉक्टर मौका पाकर नौ दो ग्यारह हो गया। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग से लेकर प्रशासनिक अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।


आरोप है कि डॉक्टर ने ऑपरेशन किया और उसके कुछ देर बाद मरीज छोटेलाल की मौत हो गई। मौत की सुचना जैसे ही परिजनों को मिली तो परिजनों ने अस्पताल में हंगामा मचाना शुरू कर दिया।डॉक्टर जेएन तिवारी उल्टे पर जाकर सीएमएस के कमरे में छुप गए। और वही जिला अस्पताल के अधिकारी और कर्मचारी डॉक्टर को बचाने में जुटे रहे। जिसके बात मृतक के परिजनों ने जिला अस्पताल के गेट पर शव को रख कर जाम लगाने का प्रयास किया।इस बात की सुचना जैसे ही कोतवाली पुलिस को मिली तो शहर कोतवाल कमलेश पांडे मौके पर पहुंच गए।और मृतक के परिजनों को समझाने में जुट गए।मौत की वजह जानने के लिए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। और बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

रिपोर्ट- ओम त्रिवेदी

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top