Home > प्रधानमंत्री का बिजली पहुंचाने का दावा गलत, कंपनी को नोटिस

प्रधानमंत्री का बिजली पहुंचाने का दावा गलत, कंपनी को नोटिस

 Special Coverage News |  2016-08-17 09:52:08.0  |  हाथरस

प्रधानमंत्री का बिजली पहुंचाने का दावा गलत, कंपनी को नोटिस

हाथरस: लाल किले से पीएम नरेंद्र मोदी आजादी के 70 साल बाद हाथरस के जिस नगला फतेला गांव में बिजली पहुंचाने का दावा कर रहे थे, वास्तव में उस गांव में आज तक बिजली नहीं पहुंची है। उठे सवालों के बीच केंद्र सरकार ने दक्षिणाचाल विद्युत वितरण निगम को कारण बताओ नोटिस भेजा है।

सरकार का कहना है कि यूपी सरकार ने नगला फतेला गांव को बिना बिजली का गांव बताते हुए बिजली पहुचाने के लिए लिखा था। ग्रामीण विद्युतीकरण के तहत केंद्र ने 2013 में बिजली पहुचाने की मंजूरी दे दी। इसके बाद फरवरी 2015 में दक्षिणाचाल विद्युत निगम ने एक बार फिर केंद्र को लिखा की नगला फतेला गांव में बिजली नहीं पहुंची है।

केंद्र फ़ौरन इनके लिए राशि जारी कर दी। इसके बाद 30 अक्टूबर 2015 को यूपी सरकार ने बताया कि नगला फतेला में बिजली पहुंच गई है। प्रदेश सरकार ने उस कंपनी का नाम भी बताया, जिसने बिजली पहुंचाई थी।

केंद्रीय बिजली मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि प्रदेश सरकार को बताना चाहिए कि अगर नंगला फतेला में बिजली पहुंच गयी थी तो दोबारा बिजलीकरण के लिए प्रस्ताव क्यों भेजा, इसलिए मंत्रालय ने दक्षिणाचाल विद्युत वितरण निगम को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

Tags:    
Share it
Top