Home > Archived > मोदी के फैसले के बाद बसपा कार्यालय में मचा हड़कंप, गाड़ी में बैग भर-भर के भागने लगे नेता

मोदी के फैसले के बाद बसपा कार्यालय में मचा हड़कंप, गाड़ी में बैग भर-भर के भागने लगे नेता

 Special Coverage News |  10 Nov 2016 9:53 AM GMT  |  New Delhi

मोदी के फैसले के बाद बसपा कार्यालय में मचा हड़कंप, गाड़ी में बैग भर-भर के भागने लगे नेता

प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी के 1000 एवं 500 के नोट बैन के बाद आजकल सूबे की राजधानी स्थित बसपा कार्यालय में काफी गहमागहमी बढ़ गई है. बुधवार को अचानक कार्यालय में करीब 100 गाडियां बसपा दफ्तर पहुंची.



बसपा कार्यालय पहुंचने वालों में न सिर्फ विधानसभा उम्मीदवार थे बल्कि पार्टी के जिम्मेदार नेता भी शामिल थे. साथ ही सभी गाड़ियों में ब्रीफकेस और बैग भरे हुए थे. सभी गाडियां एक-एक करके अन्दर जा रहीं थीं और उनके वापस आने के बाद ही दूसरी गाड़ी को अन्दर जाने की इजाजत मिल रही थी. इस घटना को देखने वालों के मन में कई तरह के प्रश्न घूम रहें हैं.


सबसे खास बात ये है कि जिस बसपा कार्यालय में अब तक केवल तीन नेताओं की गाड़ी को प्रवेश दिया जाता था, उसी कार्यालय का मुख्य द्वार सभी प्रत्याशियों की गाड़ियों के लिए खोल दिए गए आखिर क्यों एक प्रश्न दिमाग में बार बार कौंध रहा है.


इन सब बातों को देखते हुए सवाल उठने तो जरूरी है. इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने 8 नवंबर को देर रात अपने मुख्य सलाहकार नसीमुद्दीन सिद्दीकी और सतीश चन्द्र मिश्रा से मुलाकात की और आनन फानन में गुरूवार की दोपहर पार्टी के प्रत्याशियों की बैठक बुलाई थी. वहीं इस बैठक को लेकर विपक्षी दलों ने आरोप लगाया है कि मायावती ने टिकट के बदले लिए गए नोटों की गड्डियां वापस लौटाने के लिए पार्टी प्रत्याशियों को बुलाया था, जिसे बैठक का नाम दिया गया है. नोट बदलने का ये नई प्रक्रिया अपनाई गई या क्या हुआ संदेह के घेरे में है. फिलहाल इतना जरुर है की दाल में कुछ काला जरुर है.

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top